Top
Begin typing your search...

जून के अंतिम सप्ताह में हो सकता है मोदी मंत्रीमंडल का विस्तार, बन सकते है ये चेहरे मंत्री

जून के अंतिम सप्ताह में हो सकता है मोदी मंत्रीमंडल का विस्तार, बन सकते है ये चेहरे मंत्री
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली, जून के अंतिम सप्ताह में केंद्रीय मंत्रिमंडल का विस्तार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कर सकते हैं। इसमें मध्य प्रदेश से ज्योतिरादित्य सिंधिया एवं महाराष्ट्र से सुरेश प्रभु को कैबिनेट मंत्री बनाया जा सकता है। एकाएक ज्योतिराज सिंधिया की पूछ भारतीय जनता पार्टी के आलाकमान की नजरों में बढ़ गई है। इससे केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर का खेमा अच्छा खासा परेशान दिखाई दे रहा है, क्योंकि ज्योतिराज सिंधिया के केंद्रीय मंत्री बन जाने के बाद ग्वालियर एवं चंबल संभाग में सिंधिया जी का दबदबा बढ़ जाएगा, इसका सीधा असर नरेंद्र सिंह तोमर की स्थानीय राजनीति पर पड़ेगा।

अभी तक इस क्षेत्र में बीजेपी कार्यकर्ताओं को पास नरेंद्र सिंह तोमर के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं था, लेकिन अब महाराज ज्योतिराज सिंधिया को भारत सरकार मे मंत्री बनाए जाने की चर्चा से नरेंद्र सिंह तोमर के समर्थक परेशान दिखाई दे रहे हैं। वहीं दूसरी ओर भारतीय जनता पार्टी मे जो पुराने कार्यकर्ता हाशिए पर चले गए थे, वह महाराज के साथ जाने को आतुर दिखाई दे रहे हैं उन्हें अब अपनी ही पार्टी में महाराज के रूप में इस क्षेत्र से दूसरा विकल्प मिल गया है।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के प्रभाव को कम करने के लिए महाराज सिंधिया पर दांव लगाना उचित मान रहे हैं, इससे इन क्षेत्रों में कांग्रेस तो निपट ही गई, अब नरेंद्र सिंह तोमर को भी निपटाने की तैयारी है।

ज्योतिरादित्य सिंधिया के केंद्रीय मंत्री बन जाने के बाद इस क्षेत्र का सत्ता समीकरण तेजी से बदल जाएगा और जिन सिंधिया समर्थक विधायकों ने त्यागपत्र देकर कमलनाथ को औंधे मुंह गिराया, उनको उपचुनाव में जीतने की संभावना प्रबल हो जाएगी। इससे भविष्य में मुख्यमंत्री शिवराज चौहान की गद्दी सुरक्षित हो जाएगी इन्हीं सब बातों के चलते महाराज सिंधिया की बीजेपी में अचानक पूछ बढ़ गई है और उसका असर दिखाई भी दे रहा है।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it