Top
Home > राजनीति > महारैली में मोदी सरकार पर बरसीं ममता बनर्जी, बोलीं- बीजेपी की एक्सपायरी डेट खत्म हो गई है

महारैली में मोदी सरकार पर बरसीं ममता बनर्जी, बोलीं- बीजेपी की 'एक्सपायरी डेट' खत्म हो गई है'

ममता ने कहा कि आप संविधान बदल देते हैं, इतिहास बदल देते हैं, भूगोल बदल देते हैं। जब आप सब बदल देते हैं तो हम क्यों नहीं बदल सकते।

 Special Coverage News |  19 Jan 2019 11:25 AM GMT  |  दिल्ली

महारैली में मोदी सरकार पर बरसीं ममता बनर्जी, बोलीं- बीजेपी की एक्सपायरी डेट खत्म हो गई है
x

कोलकाता में आज तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की महारैली है। ममता बनर्जी अपनी इस महारैली के जरिए जहां गैरबीजेपी दलों को एक मंच पर लाना चाहती हैं वहीं अपना शक्ति प्रदर्शन भी करना चाहती है। ममता बनर्जी की इस रैली में आज कोलकाता में 20 दलों के नेता बीजेपी के खिलाफ एक मंच पर नजर आए।

रैली में बीजेपी और पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि मोदी सरकार की 'एक्सपायरी डेट' खत्म हो गई है। उन्होंने कहा कि सभी विपक्षी दल एक साथ मिलकर काम करने का वादा करते हैं और प्रधानमंत्री कौन होगा इस पर फैसला हम लोकसभा चुनाव के बाद करेंगे। विपक्षी नेताओं पर सीबीआई और ईडी के चल रहे मामले पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि जब आपने किसी को नहीं छोड़ा तो हम लोग आपको क्यों छोड़ेंगे?

मोदी पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि किसी पर व्यक्तिगत टिप्पणी करना हमारी संस्कृति नहीं है लेकिन आपने किसी को नहीं छोड़ा। फिर सब आपको क्यों छोड़ेंगे? उन्होंने कहा कि जब लोग आपके साथ आएं तो ठीक है। अगर आपके साथ नहीं हैं तो सब चोर हैं।

उन्होंने कहा कि आप संविधान बदल देते हैं, इतिहास बदल देते हैं, भूगोल बदल देते हैं। जब आप सब बदल देते हैं तो हम क्यों नहीं बदल सकते। हम मोदी सरकार बदल देंगे। मोदी सरकार को निशाने पर लेते हुए ममता ने कहा कि चुनाव से पहले इन्होंने 2 करोड़ लोगों को रोजगार देने की बात कही थी लेकिन इनके कार्यकाल में करोड़ों लोग बेरोजगार हो गए। ममता अपने भाषण के दौरान शायराना अंदाज में भी दिखाई दीं। शायरी से अपनी बात रखते हुए उन्होंने कहा कि 'मुद्दई लाख चाहे तो क्या होता है, वही होता है जो मंजूर-ए-खुदा होता है।'

ममता ने सीबीआई संकट के हवाले से भी सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि पहले हम लोग सीबीआई की कितनी इज्जत करते थे लेकिन इन लोगों ने उसकी इज्जत नष्ट कर दी है। विपक्ष के प्रधानमंत्री उम्मीदवार के सवाल पर ममता बोलीं कि हमारी चिंता यह नहीं है कि कौन प्रधानमंत्री होगा। हमारी चिंता है कि बीजेपी जाए और बीजेपी चली जाएगी तो हम प्रधानमंत्री तय कर लेंगे।

केजरीवाल ने बोला मोदी सरकार पर हमला?

रैली में केजरीवाल ने पीएम मोदी पर जमकर निशाना साधा और उनकी तुलना हिटलर से करते हुए कहा कि जो पाकिस्तान 70 साल में नहीं कर पाया वो मोदी और अमित शाह की जोड़ी ने पांच सालों में कर दिया. केजरीवाल ने आरोप लगाया कि देश में मुसलमानों पर अत्याचार बढ़ें हैं और यह सरकार अलग-अलग धर्मों के लोगों के बीच नफरत पैदा कर रही है.

उन्होंने कहा जगह-जगह मॉब लिचिंग कर लोगों को मारा जा रहा है. केजरीवाल ने लोगों को सावधान करते हुए कहा अगर 2019 में मोदी और अमित शाह की जोड़ी दोबारा सत्ता में आ गई तो ये लोग देश को बर्बाद कर देंगे. देस के टुकड़े-टुकड़े कर देंगे.

केजरीवाल ने अमित शाह के 50 सालों तक सत्ता में रहने वाले बयान का हवाला देते हुए कहा, अगर 2019 में यह सत्ता में आए तो देश का संविधान बदल देंगे और हिटलर की तरह लोकशाही खत्म कर तानाशाही शुरू कर देंगे. केजरीवाल ने वहां मौजूद भीड़ से कहा जो इस देश में सच्चा देशभक्त है उसे ठान लेना चाहए कि जो भी करना पड़े लेकिन मोदी शाह को भगाना है. उन्हें दिल्ली की सत्ता से उखाड़ फेंकना है.

शरद से हुई गलती?

शरद यादव ने कहा कि नोटबंदी के कारण देश की अर्थव्यवस्था कई साल पीछे चली गई है। उन्होंने कहा था कि दो करोड़ रोजगार देंगे लेकिन कितनों को मिला। केंद्र की सरकार हर संस्था को बर्बाद कर रही है। भारत की आजादी में जितनी कुर्बानी बंगाल ने दी है देश के किसी राज्य ने नहीं दी है। 2019 में केंद्र की सरकार बंगाल की खाड़ी बहाने का काम करेंगे। देश की आजादी खतरे में है। व्यापार और किसान खतरे में हैं। सभी पार्टी के नेताओं को गोलबंद होना पड़ेगा। जनता भी फूट डालने वाले लोगों को हराने का काम करे यह अपील है। इस दौरान शरद यादव ने घोटाले की बात करते हुए गलती से राफेल की जगह बोफोर्स कह दिया हालांकि उन्होंने बाद में इस पर माफी मांगते हुए कहा कि बोफोर्स नहीं राफेल घोटाले की बात कर रहा था। बाद में ममता ने उनकी बात को दोहराया।

यशवंत सिन्हा ने कहा सरकार हटाओ?

वहीं, बीजेपी के बागी नेता यशवंत सिन्हा ने कहा कि सवाल एक व्यक्ति को हटाने का नहीं सोच का है। मोदी सरकार ने हर लोकतांत्रिक व्यवस्था को खत्म बर्बाद करने में लगी है। मोदी को मुद्दा न बनाएं, मुद्दों को मुद्दा बनाएं। उन्होंने कहा कि यह लड़ाई लोकतंत्र बचाने की है। कश्मीर की समस्या का समाधान गोली से नहीं बोली से होगा। मुझे पाकिस्तान का एजेंट भी कहा गया। लेकिन क्या प्यार की बात करना देशद्रोह है। मेरा एक उद्देश्य है, एक लड़ाई बाकी है वो है इस सरकार को सत्ता से बाहर करना। इसके लिए आवश्यक है कि मंच पर उपस्थित नेता तय करें कि भाजपा उम्मीदवार के खिलाफ हर सीट पर सिर्फ एक उम्मीदवार खड़ा होगा। आने वाले दिनों में हम एकजूट होकर लोकसभा चुनाव लड़ेंगे। मोदी सरकार ने सबका साथ तो लिया लेकिन विकास के नाम पर सबका विनाश किया।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it