Home > राजनीति > पीएम मोदी ने कुरुक्षेत्र की भूमि से विपक्ष को ललकारा

पीएम मोदी ने कुरुक्षेत्र की भूमि से विपक्ष को ललकारा

ये चौकीदार भारत के हक का एक-एक बूंद पानी देश के किसान तक पहुंचाने के लिए संकल्प करके बैठा है।

 Sujeet Kumar Gupta |  8 May 2019 12:23 PM GMT  |  नई दिल्ली

पीएम मोदी ने कुरुक्षेत्र की भूमि से विपक्ष को ललकारा

कुरुक्षेत्र। 2019 लोकसभा चुनावमें हरियाणा के कुरुक्षेत्र में आज पीएम मोदी ने रैली कि जहां पर कांग्रेस पार्टी पर खुब बरसे अपने एक-एक शब्द से कांग्रेस पर तंज कसते रहे । मोदी ने कहा कि श्रीमद् भगवद् गीता को याद किया और सबको बताया कि, भगवान श्री कृष्ण ने कहा है कि व्यक्ति को अपना कर्म करते रहना चाहिए, कुछ न करने से कुछ करते रहना श्रेष्ठ होता है। यही प्रयास आपके इस सेवक रहा है। मैं अपने जीवन को देशवासियों के लिए समर्पित कर देश को आगे बढ़ाने का प्रयास कर रहा हूं।आपके एक वोट ने देश के लोगों तक जरूरी सुविधाएं पहुंचाने का काम किया है। 12 मई को कमल के फूल पर दिया आपका वोट वैभवशाली भारत के निर्माण का रास्ता मजबूत करेगा।

आप को बतादें कि हमेशा से रामायण और महाभारत को दिन रात गाली देने वालों के समर्थक, आज भी इन महामिलावटियों के बीच में है। भगवान का नाम लेने पर जेल भेजने वाले लोगों के साथ एक मंच पर हाथ पकड़कर ये नाचते हैं। महामिलावट वालों को पाकिस्तान की हरकतें पसंद हैं, लेकिन देश का गौरव स्थापित करने वालों को ये दिन रात गाली देते हैं। पाकिस्तान से इन्हें इतना लगाव है कि भारत की सफलता का श्रेय भी ये पाकिस्तान को देते हैं। बालाकोट के बाद हमारे एक वीर सपूत को पाकिस्तान ने कब्जे में ले लिया था। 48 घंटे के भीतर पाकिस्तान को उसे छोड़ना पड़ा था। तब कांग्रेस और उसके दरबारियों ने पाकिस्तान प्रधानमंत्री की तारीफ में कसीदे पढ़ना शुरु कर दिए। उनके लिए नोबेल पुरस्कार तक की मांग कर दी। कांग्रेस सिर्फ एक ही परिवार की चिंता में डूबी रहती है।

इसलिए भारत के हितों की रक्षा करने में कभी गंभीरता नहीं दिखाई गई। देश आजाद होने से लेकर अब तक हिंदुस्तान के किसानों के हक का पानी पाकिस्तान जा रहा है। लेकिन दशकों तक कांग्रेस के लोग इस पर एक शब्द नहीं बोले। ये चौकीदार भारत के हक का एक-एक बूंद पानी देश के किसान तक पहुंचाने के लिए संकल्प करके बैठा है। इन्होंने भारत की संस्कृति को बदनाम करने का अभियान छेड़ा हुआ था। पानीपत के पास समझौता एक्सप्रेस में ब्लास्ट हुआ था, तो कांग्रेस ने हिन्दू आतंकवाद का झूठ गढ़ने के लिए निर्दोष लोगों को सालों तक जेल में रखा। लेकिन कांग्रेस के इस षड्यंत्र का पर्दाफाश हो गया। मैं कांग्रेस और उसके साथियों को मनमानी नहीं करने देता हूं, उनके भ्रष्टाचार को रोकता हूं, उनके वंशवाद की बात करता हूं, इसलिए ये लोग बार-बार प्रेम का नकाब पहनकर मुझे गालियां देते रहते हैं।

कांग्रेस के एक नेता ने मुझे गंदी नाली का कीड़ा कहा, तो दूसरा मुझे गंगू तेली कहने आ गया। इनके एक नेता ने मुझे पागल कुत्ता कहा, तो दूसरे नेता ने भस्मासुर की उपाधि दे दी इनके एक और मंत्री ने मुझे वायरस कहा तो दूसरे ने दाऊद इब्राहिम का दर्जा दे दिया। इनके एक नेता ने मुझे हिटलर, तो दूसरे ने मुझे बदतमीज नालायक बेटा कहा। इतना ही नहीं, मुझे रैबीज बीमारी से पीड़ित बंदर, चूहा और लहू पुरुष बोला गया। कांग्रेस वालों ने मुझे रावण, सांप, बिच्छू, गंदा आदमी, जहर बोने वाला तक बोला। कांग्रेस के नेता जिसके सामने नतमस्तक होते हैं, उन्होंने भी मुझे मौत का सौदागर कहा। ये इनका 'प्रेम' करने का तरीका है,इनके बड़े-बड़े नेताओं ने मुझे मानसिक तौर पर बीमार बताया, नीच किस्म का आदमी कहा, यहां तक कि ये भी पूछा गया कि मेरे पिता कौन थे ये नहीं मालूम: पीएम मोदीकांग्रेस के नामदार जिस तरह हरियाणा भी बीते पांच वर्षों में बड़े परिवर्तन का गवाह रहा है। पानीपत से ही बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का अभियान मैंने शुरु किया था। हरियाणा ने इन 5 वर्षों में बेटियों का बहुत ध्यान रखा है। भगवद् गीता में भगवान श्रीकृष्ण ने कहा है कि- नियतं कुरु कर्म त्वं कर्म ज्यायो ह्यकर्मणः।

यानि व्यक्ति को अपना कर्म करते रहना चाहिए, क्योंकि कुछ न करने से कुछ करना हमेशा श्रेष्ठ होता है। यही प्रयास आपके इस सेवक का, इस कामगार का हमेशा रहा है। जब मैं 2014 का चुनाव लड़ रहा था तो मुझे कम गालियां सुनने को मिलती थीं। अब विपक्ष का हमला बढ़ गया है। गालियों को पचाने का मेरी पाचन शक्ति (डाइजेशन पावर) बढ़ गई है। 2019 में गालियों को पचाने के लिए ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है। चुनाव में मुख्य मुद्दा विकास है, लेकिन विपक्ष इससे कन्नी काट रहा है। विपक्ष की जिम्मेदारी है कि वह विकास के मुद्दे पर आए लेकिन वह इससे भाग रही है।

हम चुनावों में आतंकवाद की चर्चा करते हैं। आतंकवाद जब पड़ोस से आएगा तो क्या इस पर चुप रहना चाहिए? कांग्रेस पार्टी के नेता (नामदार) ने अपने एक इंटरव्यू में कहा कि हम किसी भी प्रकार से मोदी की छवि ध्वस्त करना चाहते हैं। मैंने चुनौती दी है कि अगर कांग्रेस मौजूदा प्रधानमंत्री को गाली देगी तो पूर्व प्रधानमंत्रियों के कार्यों का भी लेखा-जोखा लिया जाएगा। कांग्रेस के नेता और उनके रागदरबारियों ने पीएम मोदी को क्या कुछ नहीं कहा, कितनी अभद्र गालियां दीं... यहां तक की उनकी मां तक को गाली दे डाली। मर्यादा की सारी हदें लांघने वालों जनता माफ नहीं करेगी। मै आप से यही अपील करने आया हूं कि आप मतदान के दिन कमल के निशान पर बटन दबाकर भारी मतों से भाजपा को जीताये।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top