Top
Home > राजनीति > कोरोना की जंग में देश को एकजुट करने में जुटे PM मोदी, जानें अबतक किन-किन से की बात!

कोरोना की जंग में देश को एकजुट करने में जुटे PM मोदी, जानें अबतक किन-किन से की बात!

इस दौरान पीएम ने कहा कि हमें सतर्क रहने की जरूरत है, लेकिन घबराएं नहीं. इस कोरोना वायरस के खिलाफ हम मिलकर लड़ेंगे.

 Shiv Kumar Mishra |  24 April 2020 11:02 AM GMT  |  दिल्ली

कोरोना की जंग में देश को एकजुट करने में जुटे PM मोदी, जानें अबतक किन-किन से की बात!
x

कोरोना संकट से निपटने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दुनिया भर की हस्तियों से लेकर देश के सरपंचों तक से बातचीत कर लोगों को एकजुट करने में लगे हैं. पीएम मोदी ने एक तरफ जहां देश के पत्रकारों, संपादकों, दवा निर्माताओं, उद्योग जगत, खिलाड़ियों, बुजुर्ग लोगों के साथ संपर्क साधा.

वहीं, दूसरी तरफ उन्होंने देश भर के मुख्यमंत्रियों और सत्तापक्ष-विपक्ष सभी दलों के नेताओं के साथ विचार-विमर्श भी किया. इसके साथ ही पीएम मोदी साउथ एशियन एसोसिएशन फॉर रीजनल कोऑपरेशन (SAARC) के देशों और जी-20 ग्रुप के सदस्य देशों के राष्ट्राध्यक्षों के साथ भी बात कर चुके हैं.

सरपंचों के साथ पीएम ने किया संवाद

कोरोना वायरस संकट के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को सभी ग्राम पंचायतों के प्रमुखों के साथ बातचीत की. राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के मौके पर पीएम ने नए ई-ग्राम स्वराज पोर्टल और ऐप की शुरुआत की. इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना संकट से हमें सबक मिला है कि अब आत्मनिर्भर होना काफी जरूरी है. उन्होंने कहा कि गांव वालों ने दुनिया को बड़ा संदेश दिया. गांव वालों ने सोशल डिस्टेंसिंग नहीं बल्कि 'दो गज दूरी' का संदेश दिया, जिसने कमाल कर दिया. कोरोना से निपटने के लिए सरपंचों ने भी पीएम के सामने अपनी राय रखी.

पीएम की सीएम के साथ तीसरी बैठक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश भर के मुख्यमंत्रियों के साथ लगातार वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठक कर रहे हैं. पीएम अभी तक कोरोना संक्रमण के संकट को लेकर दो बार बैठक कर चुके हैं और तीसरी मीटिंग सोमवार को करेंगे. इस दौरान पीएम मोदी मुख्यमंत्रियों से फीडबैक भी लेंगे. केंद्र सरकार राज्यों से मिले फीडबैक के आधार पर ही आगे की रणनीति तैयार करेगी. मुख्यमंत्रियों के फीडबैक पर राज्यों में सामान्य कामकाज शुरू करने पर रायशुमारी होगी. माना जा रहा है कि मुख्यमंत्री अपने राज्यों की समस्याओं को भी पीएम के सामने रखेंगे.

बुजुर्ग पूर्व विधायकों से भी कर रहे हैं बात

लॉकडाउन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के अलग-अलग राज्यों के वरिष्ठ नेताओं और पूर्व विधायकों के साथ फोन पर बातचीत कर रहे हैं. मोदी ने यूपी के कुशीनगर जिले के 106 वर्षीय पूर्व विधायक श्रीनारायण उर्फ भुलई भाई का टेलीफोन के माध्यम से हाल-चाल लिया.

इसी तरह पीएम ने गुजरात के पूर्व विधायक 99 वर्षीय रत्नाभाई थुम्मर को फोन किया और कोरोना फंड में राशि दान करने के लिए उनकी सराहना की. ऐसे ही पीएम ने छत्तीसगढ़ के 85 वर्षीय जनसंघी नेता और पूर्व विधायक देवेश्वर सिंह और दिल्ली के पूर्व विधायक ओपी बब्बर को फोन कर उनका हाल चाल जाना.

विपक्ष के नेताओं के साथ पीएम ने की बात

कोरोना संकट पर पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए विपक्ष सहित विभिन्न दलों के फ्लोर नेताओं के साथ बैठक की थी. इसमें लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी, राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद, एनसीपी के शरद पवार, शिवसेना के संजय राउत के अलावा टीएमसी के सुदीप बंदोपाध्याय, बसपा के सतीश चंद्र मिश्रा, डीएमके टी आर बालू, बीजेडी के पिनाकी मिश्रा, वाईएसआर के मिथुन रेड्डी, सपा के राम गोपाल यादव, जेडीयू के राजीव रंजन सिंह, एलजेपी के चिराग पासवान, अकाली दल के सुखवीर सिंह बादल सहित कई अन्य दलों के नेताओं ने हिस्सा लिया था. पीएम ने इस दौरान सभी नेताओं से बात की और उनकी बातों को सुना.

पीएम ने सार्क देशों के साथ किया संवाद

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले दिनों साउथ एशियन एसोसिएशन फॉर रीजनल कोऑपरेशन (SAARC) के देशों से इस महामारी से निपटने के लिए चर्चा की थी. मोदी की अपील पर श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटबया राजपक्षे, बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना, अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी, मालदीव के राष्ट्रपति इब्राहिम सोली, भूटान के प्रधानमंत्री, नेपाल के प्रधानमंत्री और पाकिस्तान के स्वास्थ्य मंत्री शामिल हुए थे. इस दौरान पीएम ने कहा कि हमें सतर्क रहने की जरूरत है, लेकिन घबराएं नहीं. इस कोरोना वायरस के खिलाफ हम मिलकर लड़ेंगे.

मोदी ने कोरोना पर इनसे भी की बात

प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोना संकट को लेकर देश के डाक्टरों, पत्रकारों, और उद्योगपतियों के साथ-साथ खिलाड़ियों से भी संवाद किया था. पीएम मोदी ने देश के 40 बड़े खेल दिग्गजों के साथ संवाद किया था. जिनमें बीसीसीआई के अध्यक्ष और पूर्व कप्तान सौरव गांगुली, बैडमिंटन प्लेयर पीवी सिंधू, पूर्व महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर और स्प्रिंटर हिमा दास जैसी हस्तियां शामिल थीं. इसके अलावा कोरोना संकट पर अभी तक पीएम मोदी तीन बार राष्ट्र को संबोधित भी कर चुके हैं. पीएम के द्वारा की गई सारी अपीलों को जनता से बखूबी माना है.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it