Top
Home > राजनीति > पीएम मोदी रैली में बोले पश्चिम बंगाल में ममता की दादागिरी अब नहीं चलेगी

पीएम मोदी रैली में बोले पश्चिम बंगाल में ममता की दादागिरी अब नहीं चलेगी

नाम का शासन तो TMC रखा है लेकिन कारोबार दीदी के ‘जगाई-मथाई’ चला रहे हैं।

 Sujeet Kumar Gupta |  9 May 2019 6:38 AM GMT  |  नई दिल्ली

पीएम मोदी रैली में बोले पश्चिम बंगाल में ममता की दादागिरी अब नहीं चलेगी
x

पश्चिम बंगाल। 17वीं लोकसभा के लिए पीएम मोदी की पश्चिम बंगाल के बांकुरा में आज रैली व जनसभा को संबोधित किये, लेकिन रैली में पहले मोदी ने कहां कि ममता दीदी कि टीएमसी सरकार ने यहां रैली न हो पाए इसके लिए पूरी शक्ति लगा दी थी। लेकिन जिस पर आपका आशीर्वाद हो, उसे आपके बीच आने से कोई नहीं रोक सकता। दीदी कितनी परेशान है, उसका अंदाज़ा उनकी भाषा से लगाया जा सकता है। वो अब मेरे लिए पत्थरों की बात करती हैं, थप्पड़ों की बात करती हैं। मुझे तो गालियों की आदत है लेकिन इस बौखलाहट में दीदी देश के संविधान का भी अपमान कर रही हैं। पीएम नरेन्द्र मोदी अपने पूरे जोश में टीएमसी सरकार पर दीदी-दीदी कह कर जुबानी हमला किये।

मोदी ने कहां कि ममता दीदी ने पहले बंगाल को अपनी सत्ता के नशे में बर्बाद किया। अब वो बंगाल को और तबाह करने पर तुल गयी हैं, अपनी सत्ता जाने के डर से उन्हें मां-माटी-मानुष की नहीं, सिर्फ और सिर्फ अपने हितों, अपनी कुर्सी, अपने रिश्तेदारों, अपने भतीजे, और अपने टोलाबाजों की परवाह है। दीदी अपने देश के प्रधानमंत्री को प्रधानमंत्री मानने के लिए तैयार नहीं हैं। लेकिन पाकिस्तान के प्रधानमंत्री को, प्रधानमंत्री मानने में उन्हें गौरव का अनुभव होता है। जब पिछले दिनों पश्चिम बंगाल में समुद्री तूफान आया, तो मैंने दीदी को दो-दो बार फोन किया, लेकिन उनका अहंकार इतना है, कि उन्होंने देश के प्रधानमंत्री से बात करना उचित नहीं समझा। यहां तक की भारत सरकार यहां के अफसरों के साथ बैठक करके राज्य की मदद करना चाहती थी लेकिन दीदी ने उस मीटिंग को भी करने से भी इनकार कर दिया।

आज स्थिति ये है कि यहां की मुख्यमंत्री तो दीदी हैं, लेकिन वो पीछे रहकर कैसे कैसों की दादागिरी और हुकूमत चलवा रही है। नाम का शासन तो TMC रखा है लेकिन कारोबार दीदी के 'जगाई-मथाई' चला रहे हैं। दीदी को उन काली भक्तों, सरस्वती भक्तों, दुर्गा भक्तों और राम भक्तों के गुस्से की चिंता करनी चाहिए, जिनको पूजा भी डर-डर कर करनी पड़ती है। दीदी जीतना भी गुस्सा कर ले लेकिन भाजपा पश्चिम बंगाल में उनकी दादागिरी के सामने मजबूती से खड़ी रहेगी।

दीदी के दिल में घुसपैठियों के लिए और विदेशी कलाकारों के लिए ममता है। लेकिन हमारे आदिवासी युवा, हमारे सपूत जो राष्ट्र रक्षा में अपनी भूमिका निभा रहे हैं, उनके लिए कोई ममता नहीं है। आप को जानकारी होगी। जब हमारे वीर सपूतों ने पाकिस्तान के आतंकियों को घर में घुसकर मारा, तो दीदी ने आतंकियों की लाशें दिखाने की मांग की। जब पूरा देश सर्जिकल स्ट्राइक डे मना रहा था, तो पश्चिम बंगाल की सरकार ने ऐसा करने से इनकार कर दिया।

आपके इस सेवक ने गरीबों को हर वर्ष 5 लाख रुपए तक के मुफ्त इलाज की व्यवस्था की है। आयुष्मान भारत योजना से आपका इलाज भी मुफ्त में हो सकता था, लेकिन स्पीड ब्रेकर दीदी ने इस पर भी रोक लगा दी। ऐसी असंवेदनशील मानसिकता को उखाड़ फेंकना जरूरी है। आज पुरा देश मजबूत सरकार के लिए जनादेश दे रहा हैं। लेकिन विपक्ष इसको मामने को तैयार नही है। भाजपा ये तय करती है 2022 तक पश्चिम बंगाल में हर गरीब,दलित आदिवासी हर पिछड़े वर्ग को अपना पक्का घर,बिजली का कनेक्शन,गैस कनेक्शन होगा। जिस पीएम किसान योजना को ममता दीदी ने लटका के रखा उसका विस्तार किया जायेगा। चुनाव के बाद सभी किसान परिवारों के खाते में पैसा जामा करने का पुरा प्रयास करेंगे। छोटे दुकानदार, किसानों को 60 वर्ष के बाद पेंशन भी देने वाले है। मैं आप से यही अपील करने आया हूं कि आप मजबूत सरकार बनाने के भाजपा को वोट दें।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it