Top
Home > राजनीति > कांग्रेस के प्रमोद तिवारी बोले- भाजपा राजनीति को जिंदा रखने के लिए धर्म का सहारे अपने आका का नाम लेना नही भूलती

कांग्रेस के प्रमोद तिवारी बोले- भाजपा राजनीति को जिंदा रखने के लिए धर्म का सहारे अपने आका का नाम लेना नही भूलती

...भाजपा जिंदा ही नहीं रह सकती अगर वो साप्रंदायिकता, धर्म की राजनीति न करें और अपनी आका पाकिस्तान का नाम न ले तो।

 Sujeet Kumar Gupta |  2 Feb 2020 9:03 AM GMT  |  नई दिल्ली

कांग्रेस के प्रमोद तिवारी बोले- भाजपा राजनीति को जिंदा रखने के लिए धर्म का सहारे अपने आका का नाम लेना नही भूलती
x

नई दिल्ली। मोदी सरकार ने 1 फरवरी 2020 को अपने दूसरे कार्यकाल का दूसरा बजट पेश किया। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने वित्त वर्ष 2020-21 के लिए अपना दूसरा आम बजट पेश किया। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के बहीखाते में किसानों से लेकर मिडिल क्लास को कुछ न कुछ मिला है। मोदी सरकार ने नौकरीपेशा लोगों को टैक्स में विकल्प चुनने का विकल्प दिया है। साथ ही किसानों के लिए किसान रेल स्थापित करने का ऐलान किया गया है।

वही बजट पर कांग्रेस के प्रमोद तिवारी ने भाजपा पर तंज कसा है और बजट में शेयर बचने पर सवाल खड़ा किया है और कहा की बीमा कंपनी से सरकार जो अपने शेयर बेचेगी उससे ऐसा लगता है जैसे एक ऐसी पीढ़ी आ जाए जो अपने पूर्वजों की कमाई बेचकर अपना जीवनयापन करे। आज सरकार उस मोड़ पर पहुंच गई है कि उसे अपने पुरखों की कमाई बेचनी पड़ रही है। आगे कहा की भाजपा जिंदा ही नहीं रह सकती अगर वो साप्रंदायिकता, धर्म की राजनीति न करें और अपनी आका पाकिस्तान का नाम न ले तो।

बतादें कि केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण वर्ष 2020-21 का बजट पेश करते हुआ कहा कि भारत सरकार भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) को लिस्टेड कराकर अपनी हिस्सेदारी का कुछ हिस्सा आईपीओ के जरिए बेचेगी। वित्त मंत्री ने अपने बजट भाषण में यह भी कहा है कि सरकार आईडीबीआई बैंक (IDBI Bank) से पूरी तरह से बाहर हो जाएगी। वित्त मंत्री की घोषणा के बाद आईडीबीआई बैंक के शेयर 12 फीसदी तक चढ़ गए।



Tags:    
Next Story
Share it