Top
Begin typing your search...

कांग्रेस को बड़ा झटका, प्रियंका चतुर्वेदी ने दिया इस्तीफ़ा

प्रियंका ने अपने ट्विटर हैंडल पर अपना बायो भी चेंज कर लिया है। इससे पहले उन्होंने अपनी प्रोफाइल में ‘राष्ट्रीय प्रवक्ता कांग्रेस’ जोड़ा हुआ था?

कांग्रेस को बड़ा झटका, प्रियंका चतुर्वेदी ने दिया इस्तीफ़ा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली : लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। कांग्रेस की प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने अपना इस्तीफा राहुल गांधी को भेजा है। आपको बतादें 17 अप्रैल को ही प्रियंका ने पार्टी को लेकर अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए ट्वीट किया था, "काफी दुखी हूं कि अपना खून-पसीना बहाने वालों से ज्यादा गुंडों को कांग्रेस में तरजीह मिल रही है। पार्टी के लिए मैंने गालियां और पत्थर खाए हैं, लेकिन उसके बावजूद पार्टी में रहने वाले नेताओं ने ही मुझे धमकियां दीं। जो लोग धमकियां दे रहे थे, वह बच गए हैं। उनका बिना किसी कार्रवाई के बच जाना दुर्भाग्यपूर्ण हैं।"

प्रियंका ने अपने ट्विटर हैंडल पर अपना बायो भी चेंज कर लिया है। इससे पहले उन्होंने अपनी प्रोफाइल में 'राष्ट्रीय प्रवक्ता कांग्रेस' जोड़ा हुआ था। उन्होंने अब अपनी ट्विटर प्रोफाइल में खुद को कॉलमिस्ट-ब्लॉगर-मदर बताया है। सूत्रों की मानें तो प्रियंका चतुर्वेदी शिवसेना के संपर्क में है।



प्रियंका ने बुधवार को आरोप लगाया कि कांग्रेस के लिए मेहनत करने वाले नेताओं की जगह गुंडों को तरजीह दी जा रही है। कांग्रेस प्रवक्ता ने एक ट्वीट को रि-ट्वीट करते हुए कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा उनके साथ की गई बदसलूकी का मसला उठाया था। इस पत्र के मुताबिक कुछ महीनों पहले प्रियंका ने राफेल डील पर मथुरा में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी और इस दौरान कांग्रेस के स्थानीय नेताओं ने उनके साथ 'बदसलूकी' की थी।

कांग्रेस नेताओं के इस बुरे बर्ताव की शिकायत प्रियंका ने पार्टी से की। पत्र के अनुसार शिकायत मिलने के बाद कांग्रेस ने आरोपी नेताओं को निलंबित कर दिया था लेकिन अब उन्हें बहाल करने का फैसला किया है। प्रियंका चतुर्वेदी ने अपने ट्वीट में कहा, 'मैं इस बात से बेहद दुखी हूं कि पार्टी के लिए अपना खून-पसीना बहाने वाले नेताओं की जगह कांग्रेस में गुंडों को तरजीह दी जा रही है। जिन लोगों ने मुझे पार्टी के अंदर धमकियां दीं वे बच गए हैं। उनके खिलाफ कार्रवाई न होना दुर्भाग्यपूर्ण है।'

Special Coverage News
Next Story
Share it