Top
Begin typing your search...

मायावती पर बरसीं प्रियंका गाँधी- BJP अघोषित प्रवक्ताओं का व्हिप लोकतंत्र के हत्यारों को क्लीन चिट

मायावती ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कांग्रेस पर निशाना साधा था

मायावती पर बरसीं प्रियंका गाँधी- BJP अघोषित प्रवक्ताओं का व्हिप लोकतंत्र के हत्यारों को क्लीन चिट
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

राजस्थान में जारी सियासी दंगल में अब कांग्रेस बनाम बहुजन समाज पार्टी की लड़ाई शुरू हो गई है. मंगलवार सुबह बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कांग्रेस पर निशाना साधा था. अब कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने पलटवार किया है और एक बार फिर बसपा को बीजेपी का अघोषित प्रवक्ता करार दिया है.

प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट कर कहा कि भाजपा के अघोषित प्रवक्ता ने बीजेपी की मदद करने के लिए व्हिप जारी किया है. लेकिन ये सिर्फ व्हिप नहीं है, बल्कि लोकतंत्र-संविधान की हत्या करने वालों को क्लीन चिट है.

आपको बता दें कि मंगलवार सुबह ही मायावती ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी और कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा था. मायावती की ओर से कहा गया कि कांग्रेस ने लगातार धोखा दिया है और धोखे से ही बसपा के विधायकों को अपनी ओर किया है. बसपा की ओर से इस मामले को सुप्रीम कोर्ट तक ले जाया जाएगा, अगर कांग्रेस की सरकार गिरती है तो इसके लिए अशोक गहलोत ही जिम्मेदार होंगे.

गौरतलब है कि प्रियंका गांधी वाड्रा और मायावती के बीच इससे पहले भी इस तरह ट्विटर वॉर छिड़ चुकी है. प्रियंका लगातार बहुजन समाज पार्टी को बीजेपी का अघोषित प्रवक्ता बताती आई हैं.

दिल्ली बसपा ने राजस्थान में 6 विधायकों को व्हिप जारी कर कांग्रेस के खिलाफ वोट करने को कहा था. हालांकि, ये विधायक 6 महीने पहले कांग्रेस में शामिल हो गए, लेकिन बसपा की ओर से मामला अदालत लेने जाने की बात कही गई. इस मामले में एक याचिका हाईकोर्ट से खारिज हो गई है, जबकि मंगलवार को नई याचिका दायर की गई है.

आपको बता दें कि कांग्रेस के पास जब बहुमत की कमी थी, तब चुनाव के बाद ही 6 बसपा विधायकों ने पाला बदल लिया था. जिसके बाद कांग्रेस विधानसभा में मजबूत हो गई थी. अब बसपा का व्हिप आने के बाद भी विधायकों का कहना है कि वो अब कांग्रेस में हैं और अशोक गहलोत के साथ हैं.

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it