Top
Begin typing your search...

प्रियंका गांधी वाड्रा ने सरकार पर कंसा तंज, किसानों को बोलने क्यों नहीं दिया जाता?

प्रियंका गांधी वाड्रा ने सरकार पर कंसा तंज, किसानों को बोलने क्यों नहीं दिया जाता?
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

प्रियंका गांधी वाड्रा हमेशा सोशल साइट पर एक्टिव रहती है और इसी के माध्यम से वो विरोधी पर तंज में माहिर है। वही आज किसानों के मद्दे को लेकर सरकार पर तंज कसा है

प्रियंका गाधी ने ट्वीट कर कहा है कि "क्या कारण है कि किसानों को दिल्ली आकर अपनी माँग उठाने से रोक दिया जाता है? भाजपा सरकार अपने प्रचार में तो किसानों की भलाई बताती फिरती है? फिर जब उप्र का किसान कहता है कि उन्हें गन्ने का बकाया चाहिए, कर्जमाफी और बिजली के दाम में कटौती चाहिए तो उन्हें बोलने क्यों नहीं दिया जाता? "

इससे पहले भी वो सरकार कई तंज कसा है पिछले दिनों वो रेप के आरोपी चिन्मयानंद की गिरफ्तारी के बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने एक बार फिर निशाना साधा है उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि "भाजपा सरकार की चमड़ी इतनी मोटी है कि जब तक पीड़िता को ये न कहना पड़े कि मैं आत्मदाह कर लूँगी, तब तक सरकार कोई एक्शन नहीं लेती। ये जनता, पत्रकारिता की ताकत थी कि SIT को भाजपा नेता चिन्मयानन्द को गिरफ़्तार करना पड़ा।"

जनता ने सुनिश्चित किया कि बेटी बचाओ केवल नारों में न रहे बल्कि धरातल पर उतरे. प्रियंका इस मामले को लेकर किसी भी विपक्ष की नेता से कहीं ज्यादा मुखर रही हैं. वह चिन्मयानंद की गिरफ्तारी की लगातार मांग कर रही थीं. इससे पहले उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा, ' उन्नाव बलात्कार मामले में भाजपा सरकार और पुलिस की लापरवाही व आरोपी को सरंक्षण दिए जाने का हश्र सबके सामने है. अब बीजेपी सरकार और उत्तर प्रदेश पुलिस शाहजहांपुर मामले में वही दुहरा रही है. पीड़िता भय में है लेकिन बीजेपी सरकार पता नहीं किस चीज का इंतजार कर रही है.'

Sujeet Kumar Gupta
Next Story
Share it