Top
Begin typing your search...

अमर सिंह का बड़ा बयान- 'राक्षसी प्रवृत्‍ति के हैं आजम खान, नफरत की राजनीति करते हैं'

अमर सिंह ने कहा, आजम खान दोहरे मापदंड वाले व्‍यक्ति हैं. वह नफरत की राजनीति करते हैं?

अमर सिंह का बड़ा बयान- राक्षसी प्रवृत्‍ति के हैं आजम खान, नफरत की राजनीति करते हैं
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
नई दिल्ली : जया प्रदा पर आजम खान के बेतुके बोल के बाद मचे बवाल के बीच अमर सिंह ने बड़ा बयान दिया है. अमर सिंह ने आजम खान को राक्षस प्रवृत्‍ति का बताया है. उन्‍होंने कहा कि आजम खान से और उम्‍मीद ही क्‍या की जा सकती है. अमर सिंह ने कहा, आजम खान दोहरे मापदंड वाले व्‍यक्ति हैं. वह नफरत की राजनीति करते हैं और महिलाओं का अपमान करते हैं. उनके ससुर और उनकी बहू ने भी आरोप लगाया है कि वह छेड़खानी करते हैं.

इससे पहले, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी आजम खान के बयान को बेहद दुर्भाग्यपूर्ण और अपमानजनक बताया है. योगी आदित्यनाथ ने आजम खान के बयान पर अखिलेश यादव और मायावती की खामोशी को लेकर भी बोला है.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आजम खान के आपत्तिजनक बयान पर सोमवार को कहा, 'यह समाजवादी पार्टी की सोच और संस्कृति को दर्शाता है. सपा प्रमुख और उनकी सहयोगी मायावती, जो एक महिला भी हैं की चुप्पी आश्चर्यजनक है. यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है. आजम खान का बयान बेहद अपमानजनक है, उनकी तुच्छ मानसिकता को दर्शाता है.

सुषमा ने बताया 'चीर हरण'

वहीं विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज ने इसे 'चीर हरण' करार दिया है. बयान से तिलमिलाईं सुषमा स्‍वराज ने एक ट्वीट किया है- ''रामपुर में द्रौपदी का चीर हरण हो रहा है, मुलायम सिंह मौन साधने की गलती ना करें.'' सुषमा स्वराज ने सोमवार सुबह ट्वीट किया कि मुलायम भाई, आप समाजवादी पार्टी के पितामह हैं. आपके सामने रामपुर में द्रौपदी का चीर हरण हो रहा है, आप भीष्म की तरह मौन साधने की गलती ना करें. सुषमा ने अपने ट्वीट में सपा अध्‍यक्ष अखिलेश यादव, उनकी पत्नी डिंपल यादव और जया बच्चन को भी टैग किया है.

बाद में दी ये सफाई?

हालांकि, आजम खां ने बाद में सफाई देते हुए कहा था कि उन्होंने अपने संबोधन में किसी का नाम नहीं लिया है. अगर कोई ये सिद्ध कर दे कि उन्होंने किसी का नाम लेकर निशाना साधा है, तो वह चुनाव नहीं लड़ेंगे.

आजम ने क्या कहा था?

रामपुर में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए आजम खान ने कहा, 'जिसकों हमने उंगली पकड़कर रामपुर लाए, आपने 10 साल जिनसे अपना प्रतिनिधित्व कराया...उसकी असलियत समझने में आपको 17 बरस लगे, मैंने 17 दिन में पहचान गया कि इनकी .... खाकी रंग का है.' जिस समय आजम खान यह बात कह रहे थे, उस समय मंच पर समाजवादी प्रमुख अखिलेश यादव भी मौजूद थे.'

Special Coverage News
Next Story
Share it