Top
Home > राज्य > राजस्थान > ऑडियो टेप केस: 4 दिन की रिमांड पर संजय जैन, पढ़ें -कौन है राजस्थान की सियासत में पहेली बना ये शख्स

ऑडियो टेप केस: 4 दिन की रिमांड पर संजय जैन, पढ़ें -कौन है राजस्थान की सियासत में पहेली बना ये शख्स

राजस्थान पुलिस की SOG ने संजय जैन के खिलाफ 'राजद्रोह', आपराधिक साजिश का मामला दर्ज किया है.

 Arun Mishra |  19 July 2020 5:15 AM GMT  |  दिल्ली

ऑडियो टेप केस: 4 दिन की रिमांड पर संजय जैन, पढ़ें -कौन है राजस्थान की सियासत में पहेली बना ये शख्स
x

राजस्थान की सियासत में काफी उथल-पुथल मची हुई है. सियासी उठापटक में इन दिनों फोन टैपिंग का मामला गर्माया हुआ है. ऑडियो टेप केस में तीन लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज की गई, जिसमें से एक नाम गजेंद्र सिंह और दूसरा विधायक भंवरलाल शर्मा हैं. दावा किया जा रहा है कि गजेंद्र सिंह केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत हैं. हालांकि शेखावत इस तरह के मामले पर कह चुके हैं कि ऑडियो टेप में उनकी आवाज नहीं है.

इन दो नामों के अलावा एक और तीसरा नाम संजय जैन का है. SOG ने संजय जैन को गिरफ्तार करने के बाद पूछताछ की, कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे 4 दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया. संजय जैन के बारे में हालांकि लोगों को बहुत ज्यादा जानकारी नहीं है. कांग्रेस ने कलराज मिश्र और पूर्व सीएम वसुंधरा राजे के साथ संजय जैन की तस्वीर दिखाकर उसे भाजपा का करीबी और भाजपा ने उसे कांग्रेस का करीबी कहा है. हालांकि सच क्या है वो इस खबर के जरिए हम जानने की कोशिश करेंगे.

राजनीतिक हलकों में बिचौलिए की भूमिका

दरअसल संजय जैन संजय बराडिया नाम का व्यक्ति है. राजीनीतिक हलकों में उसे एक बिचौलिए के रूप नमें जाना जाता है, जो दोनों पार्टियों के बीच अपनी नजदीकी बनाए रखता था. वो बीकानेर के लुणकरणसर का रहने वाला है. संजय जैन करीब 20 साल पहले जयपुर आकर शिफ्ट हो गया था. जयपुर आया तो उसने कई राजनेताओं से अपने संपर्क बनाए. होटल समेत कई व्यवसायों से उसका नाम जुड़ा हुआ है.

पत्नी ने कुछ भी कहने और मिलने से किया इंकार

राजस्थान पुलिस की SOG ने संजय जैन के खिलाफ 'राजद्रोह', आपराधिक साजिश का मामला दर्ज किया है. जैन से गुरुवार और शुक्रवार को पूछताछ की गई और शनिवार को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे 4 दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है. जैन की पत्नी विनीता बराडिया कुबेर प्राइम इन्फ्रास्ट्रक्चर नाम की कंपनी की निदेशक और प्रबंधक के रूप में रजिस्टर्ड हैं.

कंपनी खुद को होलसेल ट्रेड और कमीशन टेड में होने का दावा करती है. फर्म का पता जयपुर के बानी पार्क के शाकम्बरी अपार्टमेंट का है. ये वो जगह है जहां बराडिया अपनी पत्नी और दो बच्चों के साथ रहता था. संजय जैन की गिरप्तारी पर उसकी पत्नी ने कुछ भी कहने या मिलने से इंकार कर दिया. जैन भी यूनिक स्टार एग्रो फूड्स प्राइवेट लिमिटेड के 6 डाइरेक्टर्स में से एक में रजिस्टर्ड है, जिसे 2009 मनें बनाया गया था. इसका पता बानी पार्क में ही दूसरी लोकेशन का

लूणकरनसर ब्लॉक युवा कांग्रेस का अध्यक्ष हुआ करता था जैन

बीकानेर में बीजेपी के एक नेता सुरेंद्र सिंह शेखावत कहते हैं जैन भारतीय युवा कांग्रेस के लूणकरनसर ब्लॉक का अध्यक्ष हुआ करता था, उसके पिता हंसराज बराडिया भी कांग्रेस के पदाधिकारी और अनाज व्यपारी थे. सुरेंद्र सिंह ने ये भी दावा किया कि संजय बराडिया लूणकरनसर के पूर्व कांग्रेस विधायक वीरेंद्र बेनीवाल का करीबी था. जब सुरेंद्र सिंह से ये पूछा गया कि जैन ने क्या किया तो सुरेंद्र सिंह हंसते हुए कहते हैं वही जिसके लिए उसे गिरप्तार किया गया.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Arun Mishra

Arun Mishra

Arun Mishra


Next Story
Share it