Top
Home > राज्य > राजस्थान > सवाई माधोपुर नाबालिग रेप केस में नया खुलासा : बीजेपी की महिला नेता गिरफ्तार, कांग्रेस की नेता फरार

सवाई माधोपुर नाबालिग रेप केस में नया खुलासा : बीजेपी की महिला नेता गिरफ्तार, कांग्रेस की नेता फरार

मामले को लेकर कांग्रेस और बीजेपी दोनों ही पार्टियों में राजनीति गरमायी हई है.

 Arun Mishra |  2 Oct 2020 7:19 AM GMT  |  राजस्थान

सवाई माधोपुर नाबालिग रेप केस में नया खुलासा : बीजेपी की महिला नेता गिरफ्तार, कांग्रेस की नेता फरार
x

राजस्थान : सवाई माधोपुर जिले में नाबालिग बालिका से रेप करवाने का मामला लगातार तूल पकड़ता जा रहा है. जैसे-जैसे इस केस की परतें खुलती जा रही है वैसे-वैसे नये-नये किरदार सामने आते जा रहे हैं. पुलिस की जांच में सामने आया है कि पीड़िता नाबालिग को आरोपी बीजेपी महिला नेत्री सुनीता वर्मा ने महज 2000 रुपयों की उधारी चुकाने की खातिर एक इलेक्ट्रीशियन के हाथों सौंप दिया था और वह उसकी अस्मत से खेलकर चलता बना.

हालांकि पुलिस ने उसे अब दबोच लिया है, लेकिन इस केस में नामजद कांग्रेस नेत्री पूजा उर्फ पूनम चौधरी अभी फरार है. सुनीता वर्मा बीजेपी के सवाई माधोपुर जिले की महिला मोर्चों की अध्यक्ष थी, लेकिन इस प्रकरण का खुलासा होने के बाद पार्टी ने उसे तुरंत प्रभाव से पद से हटा दिया है. वहीं फरार चल रही दूसरी नेत्री पूजा उर्फ पूनम चौधरी कांग्रेस सेवा दल के महिला मोर्चा की जिला अध्यक्ष पद पर कार्यरत है. उसकी गिरफ्तारी के लिये पुलिस उसके संदिग्ध ठिकानों पर लगातार दबिश दे रही है. मामले को लेकर कांग्रेस और बीजेपी दोनों ही पार्टियों में राजनीति गरमायी हई है.

अब तक पांच आरोपी गिरफ्तार

पुलिस इस मामले में पुलिस कार्रवाई करते हुए अब तक सुनीता वर्मा, उसके साथी हीरालाल, जिला उद्योग केंद्र के लिपिक संदीप शर्मा, कलक्ट्रेट के चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी श्योराम मीणा और खंडा कॉलोनी इलेक्टीशियन राजूलाल रेगर को गिरफ्तार कर चुकी है. इस पूरे षड़यंत्र में बार-बार यौन शोषण की शिकार हुई नाबालिग पीड़िता को सुनीता वर्मा से पूजा उर्फ पूनम चौधरी ने मिलवाया था. वह अभी फरार चल रही है. पुलिस उसकी भूमिका की गहराई से जांच कर रही है.

यह है पूरा मामला

दरअसल इस संबंध गत 22 सितंबर को पीड़िता के परिजनों ने सुनीता वर्मा और सहयोगी हीरालाल समेत पूजा उर्फ पूनम चौधरी के खिलाफ मामला दर्ज कराया था. पुलिस ने जब मामले की पड़ताल की तो इसके परतें खुलने लगी. पीड़िता को बीजेपी की तत्कालीन महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष सुनीता वर्मा से कांग्रेस सेवा दल के महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष पूजा उर्फ पूनम ने मिलाया था. उसके बाद सुनीता वर्मा ने अपने तुच्छ स्वार्थों के चलते पीड़िता का यौन शोषण कराने में कोई कसर नहीं छोड़ी.

श्योराम सुनीता वर्मा को सेनेटाइटर आदि मुफ्त में उपलब्ध कराये थे

कलक्ट्रेट के चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी श्योराम मीणा आरोपी सुनीता वर्मा के संपर्क में तब आया था जब वह कई मर्तबा ज्ञापन देने के लिए कलेक्टर के पास जाती थी. लॉकडाउन काल के दौरान कई मर्तबा आरोपी श्योराम मीणा ने सुनीता वर्मा को सेनेटाइज आदि मुफ्त में उपलब्ध करवाए थे. इस पर सुनीता ने श्योराम मीणा को नाबालिग की अस्मत से खेलने की छूट दे दी और उसने नाबालिग के साथ रेप किया.

इलेक्ट्रीशियन राजू सुनीता वर्मा के 2000 रुपये मांगता था

आरोपी इलेक्ट्रीशियन राजू लाल रेगर सुनीता वर्मा के मकान में बिजली फिटिंग का कार्य करता था. सुनीता वर्मा से राजू लाल रेगर को बिजली फिटिंग मजदूरी के 2000 रुपये लेने थे. वह कई बार पैसे का तकाजा करने सुनीता के पास गया. उसके पश्चात आरोपी सुनीता वर्मा ने नाबालिग से दुष्कर्म करवा कर राजू रेगर से अपने पैसों का हिसाब चुकता कर लिया. कुछ इसी तरह का मामला लिपिक संदीप शर्मा के साथ रहा बताया जा रहा है.

दो आरोपी पुलिस रिमांड पर दो को जेल भेजा

इस मामले में अब तक कुल मिलाकर 5 लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं. इनमें से आरोपी सुनीता वर्मा और हीरालाल को कोर्ट ने 3 अक्टूबर तक पुलिस को फिर से रिमांड पर सौंप रखा है. वहीं श्योराम मीणा और संदीप को न्यायिक अभिरक्षा में भेजा जा चुका है. पांचवें आरोपी राजू को पुलिस ने गुरुवार शाम को गिरफ्तार किया है. उसे आज कोर्ट में पेश किया जायेगा.


Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Arun Mishra

Arun Mishra

Arun Mishra


Next Story
Share it