Top
Begin typing your search...

ज्योतिष के अनुसार जानिए मोदी सरकार के लिए कैसा रहेगा अगला पाँच साल.

ज्योतिष के अनुसार जानिए मोदी सरकार के लिए कैसा रहेगा अगला पाँच साल.
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

अच्छे दिन की उम्मीदों के साथ मोदी सरकार के 5 साल पूरा करने के बाद जनता के लिए अगला पाँच साल एक ओर जहाँ आम लोगो के लिए सरकार से उम्मीदों से भरा है वहीं मोदी सरकार के लिए चुनौतियों से परिपूर्ण है। लोगो की उम्मीदें इस सरकार से कुछ ज़्यादा ही है जिसके कारण अभी का माहौल बहुत ही चुनौतीपूर्ण है। देश मे समय समय पर जनता द्वारा सरकारी नीतियों का विरोध होगा।

पूर्ण बहुमत के बावजूद केंद्र और प्रदेश सरकार को अशांति के अलावा विपक्षी दलों और प्रजा के दबाव में झुकना पड़ सकता है।

हिन्दुत्व के विरोध में मुखर होने का षडयन्त्र होगा परंतु राष्ट्र की प्रतिष्ठा बढ़ेगी।

परिणामतः आतंकवाद और उग्रवाद का खतरा हमेशा बना रहेगा। हिन्दुत्व के विरोध में मुखर होने का षडयन्त्र होगा परन्तु इसका अन्तिम लाभ धार्मिक जगत् को ही होगा। राहु-केतु-शनि की स्थिति वर्षपर्यन्त अशुभ अवश्य है परंतु बुध-गुरु-शुक्र की स्थितियाँ इस दुर्योग को नियन्त्रित भी कर रही हैं । जिसके कारण विश्व में राष्ट्र की प्रतिष्ठा बढ़ेगी। परन्तु कुछ पड़ोसी राष्ट्रों से तनावपूर्ण वातावरण का भी निर्माण होगा। राष्ट्रीय विकास एवं प्रशासनिक व्यवस्थाएँ उत्तम रहेंगी।

वैश्विक बाजार में भारत का वर्चस्व बढ़ेगा तथा विश्व के अधिकतम राष्ट्र मैत्री की भावना से भारत की यात्राएँ करेंगे। राष्ट्र की सैन्य शक्ति समृद्ध होगी। इसी कारण पड़ोसी देश भी हमसे दुश्मनी बढ़ाएंगे । सामान्यतया विकास कार्य होते हुए भी देश मे समय समय पर जनता द्वारा सरकारी नीतियों का विरोध होगा। दूसरी ओर हमारे विरोधी देश भी हम पर इस साल के दौरान हमला करते हुए हमसे दुश्मनी खत्म करने की बजाए बढाने का काम कर सकते हैं। राष्ट्र सीमाओं पर सैन्य संघर्ष सूचक है लेकिन यातायात की दृष्टि से भारत की स्थिति मजबूत होगी। प्रक्षेपास्त्रों के निर्माण में भारत का वर्चस्व बढ़ेगा। विश्व के अनेक राष्ट्रों से नये सम्बन्ध भी स्थापित होंगे। आन्तरिक प्रशासन व्यवस्था में सुधार होगा तथा राष्ट्र की सीमाएँ भी अधिक सुरक्षित होंगी। पर्यटकों के अधिक आगमन से राष्ट्र में पर्यटन उद्योग बढ़ेगा तथा यातायात एवं परिवहन व्यवस्थाएँ सुव्यवस्थित होंगी। राष्ट्र के आयात निर्यात में वृद्धि होगी तथा अनेक बहुराष्ट्रीय कम्पनियाँ भारत में अपने केन्द्र स्थापित करते हुए व्यवसाय करने हेतु प्रवृत्त होंगी।

बीच बीच में भाजपा के प्रति लोगों में काफी अनिश्चितता का माहौल रहेगा । जिससे कुल मिलाकर मोदी सरकार के लिए आने वाला पाँच साल चुनौतियों से पूर्ण रहेगा ।

ज्योतिषाचार्य पं. गणेश प्रसाद मिश्र

Special Coverage News
Next Story
Share it