Top
Begin typing your search...

शनि और बृहस्पति का ऐसा संयोग इसके पहले 59 साल पहले बना था जो बना है आज

शनि और बृहस्पति का ऐसा संयोग इसके पहले 59 साल पहले बना था जो बना है आज
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बृहस्पति 20 नवंबर को मकर राशि में प्रवेश (Jupiter Transit 2020) कर चुका है. ये ग्रह अभी तक वक्री अवस्था में धनु राशि में था. मकर राशि में बृहस्पति (brihaspati in makar rashi) काफी कमजोर माने जाते हैं. दूसरा, इस राशि में बृहस्पति के साथ शनि भी हैं. देश दुनिया पर इस गोचर का गहरा प्रभाव पड़ सकता है. बृहस्पति का ये गोचर शनि (Shani) के कारण ज्यादा महत्वपूर्ण हो गया है. शनि और बृहस्पति का ऐसा संयोग इसके पहले 59 साल पहले बना था

शनि-गुरु का ये संयोग तब भी अच्छा सिद्ध नहीं हुआ था शनि और गुरु की युति लगभग 20 वर्ष के बाद ही होती है तो इनके बिंबो का अति निकट आना एक विलक्षण घटना है। बृहत् संहिता के अनुसार भेद युति के कारण बड़े मौसमी परिवर्तन होते हैं तथा बड़े घरानों और दलों में फूट पड़ती है। शनि-गुरु की इस भेद युति के कारण अगले एक वर्ष में में बड़े औद्योगिक घरानों और बड़े राजनीतिक दलों एवं राजनैतिक परिवारों में फूट पड़ सकती है। दिसंबर के दूसरे पखवाड़े और जनवरी में सर्दी पिछले कई दशकों का रिकॉर्ड तोड़ेगी। मकर राशि में बन रही शनि-गुरु की भेद-युति इस राशि से प्रभावित क्षेत्र जैसे उत्तर-पश्चिमी भारत, पाकिस्तान, अफगानिस्तान और ईरान में सर्दी के कोप से आम-जनता को बेहद कष्ट देने वाली होगी। इसके साथ-साथ इन देशों में राजनीतिक उठा-पटक और जनांदोलनों की संभावना भी अगले एक वर्ष तक रहेगी। शनि-गुरु की भेद-युति अर्थव्यवस्था को हिलाकर रख देगी,वैश्विक मंदी का प्रभाव अगले पांच महीनों तक भारत पर भी गंभीर रूप से दिखाई देगा, बृहस्पति और शनि का ये संबंध दुनियाभर में अस्थिरता पैदा कर सकता है. युद्ध, राजनैतिक अस्थिरता और मंदी जैसी स्थितियां बनेंगी. भारत की स्थिति में हालांकि धीरे-धीरे सुधार होगा. राहु पर बृहस्पति की दृष्टि होने के कारण बहुत सारे मामले नियंत्रण में बने रहेंगे.

बृहस्पति एवं शनि का राशियों पर प्रभाव एवं उपाय -

मेष- करियर और व्यापार के मामले शुभ रहेंगे. धन-प्रॉपर्टी में लाभ के योग बनेंगे. आर्थिक स्थिति में काफी सुधार होगा. पूजा उपासना पर विशेष ध्यान देने से लाभ हो सकता है.

वृषभ- वृषभ राशि के लोगों को स्वास्थ्य का ध्यान रखना आवश्यक होगा. रुपए-पैसे संबंधी मामले धीरे-धीरे बेहतर होते जाएंगे. इस समय हर बृहस्पतिवार को केले का दान करते रहें.

मिथुन- स्वास्थ्य को लेकर सावधानी रखनी होगी. महामारी के काल में अपनी और परिवार की देखभाल करें. करियर में थोड़ी रुकावटें आ सकती हैं. ईश्वर की उपासना करने से समस्याएं हल होती जाएंगी.

कर्क- करियर और आर्थिक स्थिति में अद्भुत सुधार होगा. नौकरी-व्यापार में तरक्की हासिल करेंगे. स्वास्थ्य की समस्याएं हल होती जाएंगी. विवाह-प्रेम संबंधों के मामलों में बात बन सकती है.

सिंह- करियर में परिवर्तन और लाभ के योग हैं. नई नौकरी या कारोबार में हाथ डालने से सफलता मिल सकती है. स्वास्थ्य में समस्याओं के योग बनते हैं. खान-पान और जीवन में सात्विकता रखें.

कन्या- इस समय रिश्तों का विशेष ध्यान रखें. शिक्षा और करियर की स्थिति अच्छी रहेगी. अच्छे परिणाम मिलने के योग बनेंगे. नित्य प्रातः बृहस्पति के मन्त्र का जप करें.

तुला- करियर और जीवन में परिवर्तन के योग हैं. लाइफस्टाइल पहले से बेहतर होता चला जाएगा. स्वास्थ्य को लेकर सावधानी रखनी होगी. बृहस्पतिवार को पीली वस्तुओं का दान करें.

वृश्चिक- करियर के मामलों में लापरवाही न करें. नौकरी या परीक्षा की तैयारी को लेकर एकाग्रता में कमी न आने दें. स्वास्थ्य की स्थितियां धीरे-धीरे सुधरेंगी. इस समय एक सोने का छल्ला तर्जनी अंगुली में धारण करें.

धनु- करियर में कुछ बदलाव और आर्थिक सुधार के योग हैं. नौकरी व्यापार में लाभ मिल सकता है. परिवार और ससुराल के रिश्तों में समस्या हो सकती है. सलाह लेकर एक पीला पुखराज धारण करें.

मकर- इस समय करियर में काफी ऊंचाइयों पर पहुच सकते हैं. परिश्रमी लोगों के लिए समय बहुत अच्छा रहेगा. पेट और लिवर की समस्या का ध्यान रखें. नित्य प्रातः बृहस्पति के मन्त्र का जप करें.

कुंभ- धन के खर्चों और मैनेजमेंट पर ध्यान देना होगा. निवेश करने के लिए समय अच्छा नहीं है. विदेश से संबंधित लाभ होने के योग हैं. इस समय ज्यादा से ज्यादा ईश्वर की उपासना लाभकारी होगी.

मीन- करियर में लाभ के उत्तम योग हैं. नौकरी में अच्छे अवसर मिलने के योग बनेंगे. प्रेम संबंध और वैवाहिक मामलों में समस्या हो सकती है. सलाह लेकर एक पीला पुखराज धारण करें.

पं0 गौरव कुमार दीक्षित

ज्योतिर्विद, शूकरक्षेत्र, सोरों जी

07452961234

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it