Top
Begin typing your search...

श्रद्धालुओं के लिए 9 मई को खुलेगा केदारनाथ का कपाट,तैयारी में लगा प्रशासन

केदारनाथ-मन्दिर के खोलने और बन्द करने का निकाला है मुहूर्त ,

श्रद्धालुओं के लिए 9 मई को खुलेगा केदारनाथ का कपाट,तैयारी में लगा प्रशासन
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रुद्रप्रयाग। धार्मिक मान्यताओं के आधार पर चार धामें में शुमार केदारनाथ धाम कि यात्रा का बड़ा ही माहात्म्य बताया गया है। राहुल सांकृत्यायन के अनुसार ये १२-१३वीं शताब्दी का मंदिर है। ऐसा कहा जाता है कि श्री केदारनाथ जी का स्थान द्वादश ज्योतिर्लिगों में से एक माना जाता है। ये मंदिर शीतकाल में केदारघाटी बर्फ़ से ढँक जाती है। यद्यपि केदारनाथ-मन्दिर के खोलने और बन्द करने का मुहूर्त निकाला जाता है, किन्तु यह सामान्यत: नवम्बर माह की 15 तारीख से पूर्व (वृश्चिक संक्रान्ति से दो दिन पूर्व) बन्द हो जाता है और छ: माह बाद अर्थात वैशाखी (13-14 अप्रैल) के बाद कपाट खुलता है।

आप को बतादें कि इस बार उत्तराखंड के केदारनाथ धाम यात्रा की सभी तैयारियां पूरी कर ली गयी है। जो नौ मई केदारनाथ धाम के कपाट श्रद्धालुओं के लिए खोल दिये जायेंगे। जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने कहा कि देश-विदेश से आने वाले श्रद्धालुओं की आगवानी की तैयारी पूरी कर ली गयी है। पर्याप्त मात्रा में राशन और जरुरत के समान केदारपुरी पहुंचा दिया गया है, और यात्रियों के रहने की समुचित व्यवस्था की गयी है इसके लिये 300 टेंट लगाए गये है और वहां के स्थानीय युवाओं को 250 टेंट लगाने की अनुमति दी गयी है। साथ किसी श्रद्धालुओं को कोई परेशानी नही हो और ठंड से बचने के लिए दस स्थानों पर अलाव के भी इंतजाम किये गये है और दवाइयों का भी पर्याप्त मात्रा में इंतजाम किया गया है। विद्युत, पेयजल और संचार सेवा बहाल कर दिया गया है बीएसएनएल व अन्य निजी कंपनियों ने भी अपनी सेवाएं शुरू कर दी हैं।

Sujeet Kumar Gupta
Next Story
Share it