Top
Begin typing your search...

ऑस्ट्रेलिया को 3-0 से हराकर T20 में नंबर वन बनी टीम इंडिया

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
ऑस्ट्रेलिया को 3-0 से हराकर T20 में नंबर वन बनी टीम इंडिया


सिडनी : कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के धुरंधरों रोहित शर्मा (52), विराट कोहली (50) और सुरेश रैना (नाबाद 49) की जांबाज बल्लेबाजी से भारत ने आस्ट्रेलिया के कप्तान शेन वॉटसन (नाबाद 124) के रिकार्ड शतक पर पानी फेरते हुये तीसरे और अंतिम ट््वंटी-20 अंतर्राष्ट्रीय मैच में रविवार को सात विकेट से जीत हासिल कर कंगारुओं की जमीन पर 3-0 की ऐतिहासिक क्लीन स्वीप कर ली। यही नहीं, इस सीरीज को क्लीन स्वीप करते हुी टीम इंडिया वर्ल्ड नंबर वन बन गई है।

वॉटसन को मैन ऑफ द मैच जबकि विराट कोहली को मैन ऑफ द सिरीज चुना गया।

वहीं इससे पहले टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी ऑस्ट्रेलियाई टीम की शुरुआत बहुत अच्छी नहीं रही और जल्दी ही उसने 2 विकेट गवां दिए। लेकिन शेन वॉटसन के तूफानी शतक की बदौलत ऑस्ट्रेलिया ने भारत के खिलाफ पांच विकेट पर 197 रनों का विशाल स्कोर खड़ा कर दिया।

इसे भी पढ़ें : T20 : शेन वाटसन ने ठोंका पहला तूफानी शतक, भारत को मिला 198 का लक्ष्य


ऑस्ट्रेलियाई पारी का जवाब देने उतरी भारतीय टीम ने जबर्दस्त शुरुआत की। रोहित और शिखर धवन की धमाकेदार पारी ने शुरुआती 8 ओवर्स तक ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों को संभलने का मौका ही नहीं दिया।

हालांकि शिखर धवन विस्फोटक बल्लेबाजी करते हुए 9 गेंदों पर 26 रन के निजी स्कोर पर पविलियन लौट गए। धवन के बाद मैदान पर आए कोहली ने पारी को बेहतर तरीके से संभाला लेकिन वह भी अर्धशतक पूरा करते ही बॉयस की शानदार गेंद पर क्लीन बोल्ड हो गए।


वहीं पिछले दो टी20 मैचों में बैटिंग से महरूम रहे युवराज सिंह को भी इस बार हुनर दिखाने का भरपूर मौका मिला। रैना के साथ मैदान पर उतरे युवराज सिंह ने एक छक्के और एक चौके की मदद से बेहद अहम 15 रन जोड़े और भारत को जीत की दहलीज पर लाकर खड़ा कर दिया।

आखिरी ओवर्स में भारत को जीत के लिए 6 गेंदों पर 17 रनों की जरूरत थी। लेकिन युवराज सिंह के एक छक्के और चौके की मदद से यह स्कोर 3 गेंदों पर 7 रन की जरूरत पर आ गया। टी20 मैचों के एक्सपर्ट बल्लेबाज माने जाने वाले सुरेश रैना के लिए तो इतना काफी था और उन्होंने आखिरी तीन गेंदों में भारत की जीत सुनिश्चित कर दी।
Special News Coverage
Next Story
Share it