Home > Archived > बुजुर्ग इंडीज टीम वर्ल्ड चैंपियन बनी, आठ खिलाड़ी 30+

'बुजुर्ग' इंडीज टीम वर्ल्ड चैंपियन बनी, आठ खिलाड़ी 30+

 Special News Coverage |  3 April 2016 5:22 PM GMT

CfIku3kUYAALXAE

कोलकाता
WT-20 क्रिकेट युवा खिलाड़‍ियों के लिए ही है, उम्रदराज क्रिकेटरों का इसमें कोई स्थान नहीं हैं....। यह कहने वाले क्रिकेट समीक्षकों की जुबान पर शायद वर्ष 2016 के टी20 वर्ल्ड कप के बाद 'ब्रेक' लग जाएगा। क्या आप यकीन करेंगे कि फाइनल में इंग्‍लैंड के खिलाफ उतरी इंडीज टीम के 11 खिलाड़‍ियों में से केवल तीन की उम्र ही 30 वर्ष से कम थी।

खास बात यह कि वेतन को लेकर विवाद के बावजूद डेरेन सैमी की इस 'बुजुर्ग ब्रिगेड' ने अपेक्षाकृत युवा इंग्लैंड टीम को खेल के हर मोर्चे पर मात दी और शान के साथ चैंपियन बनी। फाइनल मुकाबले के पहले ऐसा लग रहा था कि सही समय में प्रदर्शन के ऊंचे स्तर पर पहुंची इंग्लैंड टीम ग्रुप मैच में मिली हार का बदला लेते हुए चैंपियन बनेगी, लेकिन इंडीज टीम ने अपने जोशीले प्रदर्शन से ऐसा नहीं होने दिया।


चार्ल्‍स थे प्लेइंग इलेवन के सबसे कम उम्र के सदस्य
वर्ल्ड कप फाइनल में इंडीज टीम की जो एकादश उतरी, उसमें आंद्रे रसेल (उम्र 27साल 340 दिन ), कार्लोस ब्रेथवेट (उम्र 27साल 260 दिन ) और जॉनसन चार्ल्‍स (उम्र 27साल 80 दिन ) ही 30 वर्ष से कम के थे। टीम के सबसे उम्रदराज खिलाड़ी थे, मैदान में अपनी बैटिंग से तूफान लाने वाले क्रिस्टोफर गेल, जिनकी उम्र 36 वर्ष पार कर चुकी है। टूर्नामेंट में इंडीज टीम के सबसे कामयाब गेंदबाजों में शामिल सेमुअल बद्री भी कोई ज्यादा पीछे नहीं हैं। वे 35 वर्ष को हो चुके हैं। टीम के अन्य खिलाड़‍ियों लेंडल सिमंस, सेमुअल्स, दिनेश रामदीन, ड्वेन ब्रावो, डेरेन सैमी और सुलेमान बेन की उम्र भी 31 वर्ष से अधिक है। बेन (34 साल, 256 दिन) तो गेल और बद्री के बाद टीम के तीसरे सबसे बुजुर्ग खिलाड़ी हैं।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top