Top
Begin typing your search...

थाईलैंड ओपन खेलने गईं भारत की स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल कोरोना पॉजिटिव

यह टूर्नामेंट 12 से 17 जनवरी तक चलने वाला है लेकिन अब साइना का खेलना मुश्किल है.

थाईलैंड ओपन खेलने गईं भारत की स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल कोरोना पॉजिटिव
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

भारत की स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल कोरोना वायरस से संक्रमित हो गई हैं. बता दें कि कोरोना वायरस महामारी की वजह से लंबे समय से अंतर्राष्ट्रीय कैलेंडर प्रभावित रहा था और अब साइना योनेक्स थाईलैंड ओपन सुपर 1000 टूर्नामेंट में भाग लेने वाली हैं. यह टूर्नामेंट 12 से 17 जनवरी तक चलने वाला है लेकिन अब साइना का खेलना मुश्किल है.

इससे पहले, लंदन ओलंपिक (2012) की कांस्य पदक विजेता ने बीडब्ल्यूएफ द्वारा कोविड-19 प्रोटोकॉल के तहत लगाये गये प्रतिबंधों पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कई ट्वीट किए थे. साइना ने ट्वीट किया, ''जांच में सभी के नेगेटिव आने के बाद भी फिजियो और प्रशिक्षक हम से नहीं मिल सकते? हम चार सप्ताह तक खुद को फिट कैसे रखेंगे. हम बेहतर स्थिति में टूर्नामेंट खेलना चहते हैं. कृपया इसका हल निकालें.''

थाईलैंड में है भारतीय दल

भारत का पूरा दल बीडब्ल्यूएफ विश्व टूर फाइनल्स के दो सुपर 1000 प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए थाईलैंड की राजधानी में है. साइना ने एक और ट्वीट में लिखा, ''हमें वार्म अप/ कूल डाउन /स्ट्रेचिंग / के लिए समय नहीं दिया जा रहा है. हम यहां दुनिया के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों के बीच मुकाबले की बात कर रहे है.'' उन्होंने कहा, ''हमने फिजियो और ट्रेनर को यहां लाने के लिए काफी खर्च किया है. अगर वे हमारी मदद नहीं कर सकते तो यह बात हमें पहले क्यों नहीं बताई गयी थी?''

ये खिलाड़ी भी हुए थे टूर्नामेंट में शामिल

गौरतलब है कि एच एस प्रणय, पारुपल्ली कश्यप, समीर वर्मा, ध्रुव कपिला, मनु अत्री भी टूर्नामेंट के लिए बैंकाक पहुंचे थे. पारुपल्ली कश्यप ने पत्नी साइना के साथ सोशल मीडिया पर फोटो साझा करते हुए लिखा था, ''लंबे इंतजार के बाद हम थाईलैंड में कोर्ट (खेल) में वापसी करेंगे. काफी उत्सुक हूं.'

साइना के पास मार्च तक का समय

बता दें कि तोक्यो ओलंपिक में क्वालीफाई करने के लिए साइना के पास मार्च तक का समय है, ऐसे में साइना इस बात को लेकर चिंतित थीं कि उचित प्रशिक्षण की कमी से उनके प्रदर्शन पर असर पड़ सकता है. विश्व की पूर्व नंबर एक खिलाड़ी ने इस मुद्दे को लेकर बीडब्ल्यूएफ से संपर्क करने की कोशिश की लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ. उन्होंने कहा, '' पूरी टीम को अभ्यास के लिए सिर्फ एक घंटे का समय मिल रहा है. एक ही समय पर जिम करना है. ओलंपिक क्वालीफिकेशन के लिए मार्च तक का समय है ऐसे में फिटनेस के लिए यह अच्छा नहीं है.''

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it