Top
Begin typing your search...

बिहारः मंदिर हटाने गयी पुलिस से झड़प, भीड़ ने एसपी की गाडी फूंकी और 10 पुलिस कर्मी घायल

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
car fire

हाजीपुरः बिहार के पटना हाई कोर्ट के आदेश पर हाजीपुर के बगमली स्थित वासुदेव मंदिर को हटाने का प्रयास कर रही पुलिस को लाठी चटकानी महंगी पर गयी।

पुलिस को भागना पड़ा

मंगलवार की देर शाम मंदिर के समीप डीएम और एसपी के पहुंचने के कुछ ही देर बाद मंदिर तोड़े जाने का विरोध कर रहे लोगों का गुस्सा पुलिस के सख्त होते ही भड़क गया। बीते 9 घंटे से शांति पूर्वक विरोध करते हुए वार्तालाप के लिए तैयार मंदिर के पास जुटे लोग जब उग्र हुए तब पुलिस को भागना पड़ा।


भीड़ ने बनाया एसपी की गाडी को निशाना

इस दौरान आक्रोशित लोगों ने एएसपी की गाड़ी को अपना निशाना बनाते हुए फूंक दिया। अतिक्रमण हटाने के लिए प्रशासन द्वारा लायी गयी एक ट्रैक्टर में आग लगा दी। जमकर की गयी रोड़ेबाजी में 10 पुलिसकर्मी जख्मी हो गए। बेतिया से आए एक इंस्पेक्टर ने एक घर में पनाह ली और घर बाले की मदद से कपड़े बदलकर वहां से किसी तरह जान बचाकर भागे। सराय थाने के एक एएसआई समेत कई पुलिस पदाधिकारी जख्मी हो गए। इसी दौरान मची भगदड़ में किसी ने दारोगा संजय सिंह की पिस्टल छीन ली। हांलाकि इस की आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है। सभी घायलों को इलाज़ के लिए सदर अस्पताल में भर्ती किया गया।


कोर्ट का आदेश और भीड़ का सामना

इधर हाजीपुर सर्किट हाउस में कैम्प कर घटना की मोनिटरिंग कर रहे आईजी पारसनाथ भी स्थिति की पल-पल की जानकारी पुलिस मुख्यालय को देते रहे। एक तरफ कोर्ट के आदेश को सुनिश्चित कराना और दूसरी ओर हजारों लोगों के आस्था की दुविधा में फ़ंसे आईजी देर रात तक पुलिस पदाधिकारियों के साथ रणनीति बनाते रहे। इसी रणनीति के तहत भीड़ का नेतृत्व कर रहे नगर पार्षद सुभाष कुमार निराला सहित तीन लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। मंदिर को सैकड़ों लोगों ने घेर रखा है।
Special News Coverage
Next Story
Share it