Top
Begin typing your search...

रात में बागी पहुंचे दिल्ली, सरकार गिरने के आसार बढ़े

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
1903-FLIGHT-2-580x395

नई दिल्ली/देहरादून
उत्तराखंड में चार साल पुरानी कांग्रेस की हरीश रावत सरकार शुक्रवार रात संकट में घिर गयी। सरकार के नौ विधायकों ने बगावत का झंडा बुलंद करते हुए सरकार गठन का दावा पेश करने वाली बीजेपी का समर्थन किया है। इन बागियों का नेत्रत्व विजय बहुगुणा पूर्व मुख्यमंत्री और कैविनेट मंत्री हरक सिंह रावत कर रहे है।

कौन कौन है बागी

जो विधायक बीजेपी के साथ खड़े नजर आए उनके नाम हैं, कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत,पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा,विधायक अमृता रावत,कुंवर प्रताप चौपियन,सैला रानी रावत, सुबोध उनियाल,प्रदीप बत्रा,शैलेन्द्र मोहन सिंघल,उमेश शर्मा काऊ लेकिन स्पीकर ने वोटिंग की इजाजत नहीं दी।

वहीं राज्य के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा, ”उत्तराखंड की जनता सब देख रही है। दिल्ली में बीजेपी ने ऐसा करने की कोशिश की थी। वहां क्या हाल हुआ पूरे देश ने देखा है। हमारे पास बहुमत है। हमारी सरकार खतरे में नहीं है।”

70 सदस्यीय विधानसभा में कल अचानक असमंजस की स्थिति पैदा हो गई। पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा और कृषि मंत्री हरक सिंह रावत सात अन्य कांग्रेस सदस्यों के साथ विपक्षी बीजेपी के साथ सुर में सुर मिलाते दिखे। बजट पारित कराने के लिये मत विभाजन की मांग करते हुए उनके साथ सदन में धरने पर बैठ गये।


1903-FLIGHT-1
सरकार बनाने का दावा
बीजेपी का डेलिगेशन शुक्रवार रात गवर्नर से मिला और सरकार बनाने का दावा पेश किया। इस दौरान कांग्रेस के बागी विधायक भी मौजूद थे। सभी रात में 11 बजे के करीब बस में सवार होकर गवर्नर से मिलने पहुंचे।

रातों रात बागी कांग्रेस विधायक पहुंचे दिल्ली
कांग्रेस के 9 बागी और बीजेपी के 26 विधायक देर रात चार्टर्ड प्लेन से नई दिल्ली पहुंच चुके हैं। दिल्ली पहुंचे कांग्रेस के पूर्व सीएम विजय बहुगुणा ने कहा, “ये सरकार बड़े घोटालों में शामिल है और उत्तराखंड को बर्बादी की ओर ले जा रही है।”

जो विधायक बीजेपी के साथ खड़े नजर आए उनके नाम हैं, कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत,पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा,विधायक अमृता रावत,कुंवर प्रताप चौपियन,सैला रानी रावत, सुबोध उनियाल,प्रदीप बत्रा,शैलेन्द्र मोहन सिंघल,उमेश शर्मा काऊ लेकिन स्पीकर ने वोटिंग की इजाजत नहीं दी.

वहीं राज्य के सीएम हरीश रावत ने कहा, ”उत्तराखंड की जनता सब देख रही है. दिल्ली में बीजेपी ने ऐसा करने की कोशिश की थी. वहां क्या हाल हुआ पूरे देश ने देखा है. हमारे पास बहुमत है. हमारी सरकार खतरे में नहीं है.”
Special News Coverage
Next Story
Share it