Home > Archived > इलाहाबादः मर्डर में बसपा विधायक पूजा पाल नामजद

इलाहाबादः मर्डर में बसपा विधायक पूजा पाल नामजद

 Special News Coverage |  5 Feb 2016 3:38 AM GMT


Canwas-p-8-1-14
इलाहाबाद (व्यूरो)

सिविल लाइंस में बुधवार रात प्रापर्टी के विवाद में हुए ललित वर्मा हत्याकांड में शहर पश्चिमी से बसपा विधायक पूजा पाल के खिलाफ भी हत्या का मुकदमा दर्ज हुआ है। मृतक के पिता विनोद वर्मा की तहरीर पर दिलीप पाल, संदीप यादव, मुकेश केशरवानी, राजेश त्रिपाठी, पृथ्वीपाल यादव, शहर पश्चिमी विधायक पूजा पाल और उनके भाई राहुल पाल समेत सात नामजद के खिलाफ हत्या और साजिश रचने की रिपोर्ट दर्ज हुई।


हत्या के मामले मेें नामजद होने और एक समर्थक को पुलिस के उठाए जाने के विरोध में बृहस्पतिवार को बसपा विधायक पूजा पाल समर्थकों के साथ सिविल लाइंस थाने पर आ गईं। नामजद समर्थक के छोड़े जाने और मामले की सही विवेचना का आश्वासन मिलने के बाद विधायक वापस लौट गईं। शाम को मृतक के परिजन पोस्टमार्टम के बाद शव लेकर घर के लिए चले तो साकेत नगर स्थित उस मार्केट के सामने शव रखकर हंगामा किया, जिसके विवाद में हत्या का आरोप लगाया गया है। हंगामे की सूचना पर कई थानों की फोर्स आ गई। पुलिस के आश्वासन के बाद परिजन माने और शव लेकर गए।


क्या है मामला
सिविल लाइंस में बुधवार रात जयंतीपुर के ललित वर्मा की गोली मारकर हत्या कर दी गई। हमलावरों की फायरिंग में उसका चचेरा भाई विक्रम सिंह भी घायल है। ललित के हत्या की खबर घर पहुंची तो कोहराम मच गया। रोते बिलखते घरवाले सिविल लाइंस थाने पहुंचे। मृतक के पिता का आरोप था कि साकेतनगर स्थित एक मार्केट के बारे में ललित का शहर पश्चिमी की विधायक पूजा पाल से विवाद चल रहा है। जिसको लेकर 13 जून 2015 को विवाद हुआ था। इससे पहले भी दोनों पक्षों के बीच विवाद में झड़प हो चुकी है। इस मामले में विनोद के पक्ष से पांच लोग जेल गए थे। अभी भी तीन लोग जेल में बंद हैं। आरोप है कि विधायक पूजा पाल ने ही पूरे मामले की साजिश रची है। उन्हीं के इशारे पर उनके बेटे ललित की गोली मारकर हत्या की गई है।
ललित के शव का बृहस्पतिवार दोपहर पोस्टमार्टम हुआ। पोस्टमार्टम के बाद परिजन शव लेकर घर के लिए चले। रास्ते में उनके साथ पुलिस थी। साकेतनगर में जिस मार्केट को लेकर विवाद चल रहा है, वहां पहुंचते ही ललित के आक्रोशित परिजनों ने शव रखकर हंगामा शुरू कर दिया। नाराज लोग आरोपी विधायक और उनके समर्थकों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए नारेबाजी कर रहे थे। मौके पर हंगामे के दौरान जाम लग गया। साथ चल रही फोर्स की सूचना पर थोड़ी ही देर में वहां कई थानों की फोर्स भी आ गई। अफसरों के आश्वासन के बाद परिजन शव लेकर चले गए। इंस्पेक्टर सिविल लाइंस महेश पांडेय ने बताया कि मृतक के पिता की तहरीर पर विधायक पूजा पाल समेत सात पर हत्या और साजिश का मुकदमा लिखकर जांच की जा रही है।

इस मामले में विनोद के पक्ष से पांच लोग जेल गए थे। अभी भी तीन लोग जेल में बंद हैं। आरोप है कि विधायक पूजा पाल ने ही पूरे मामले की साजिश रची है। उन्हीं के इशारे पर उनके बेटे ललित की गोली मारकर हत्या की गई है।

तहरीर के मुताबिक पिता है हत्याकांड का चश्मदीद
मृतक ललित के पिता ने जो तहरीर पुलिस को दी है उसके मुताबिक वह घटना के समय बेटे के साथ बाइक पर थे। उन्होंने घटनास्थल सिविल लाइंस में बीएसएनएल ऑफिस के पास बताया है। ललित के पिता विनोद का कहना है कि वह और उनका बेटा ललित एक बाइक पर थे। तभी घेरकर सफारी सवार और बाइक से आए बदमाशों ने उसकी गोली मारकर हत्या कर दी। भतीजा विक्रम दूसरी बाइक पर था। वहीं हमलावरों की गोली से घायल विक्रम के मुताबिक घटना विशप जॉनसन स्कूल के बगल वाली गली में हुआ। हत्याकांड में चश्मदीद गवाह के सामने आने और विधायक पूजा पाल के नामजद होने के बाद सिविल लाइंस पुलिस इस हाई प्रोफाइल मामले में फूंक-फूंक कर कदम रखी हैै।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top