Top
Begin typing your search...

छत्तीसगढ़ में पिछले तीन सालों से नौ किसान करते है हर महीना आत्महत्या

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
kisan-hatya

रायपुर
छत्तीसगढ़ में पिछले तीन सालों में राज्य के 310 किसानों ने आत्महत्या की है। विधानसभा में आज कांग्रेस के सदस्य अमरजीत भगत के सवाल के जवाब में राजस्व मंत्री प्रेमप्रकाश पांडेय ने अपने लिखित जवाब में बताया कि एक जनवरी वर्ष 2013 से 31 जनवरी 2016 के मध्य राज्य में 310 किसानों ने आत्महत्या की है।

पांडेय ने बताया कि इस दौरान राज्य के उत्तरी क्षेत्र सरगुजा जिले के 102 किसानों ने, बेमेतरा जिले के 65 किसानों ने, कबीरधाम जिले के 42 किसानों ने, जांजगीर चांपा जिले के 33 किसानों ने, रायगढ़ जिले के 24 किसानों ने तथा राजनांदगांव जिले के 16 किसानों ने आत्महत्या की है।

मंत्री ने अपने जवाब में बताया कि राज्य के बालोद जिले में नौ किसानों ने, बलौदाबाजार जिले के चार किसानों ने, धमतरी जिले के तीन किसानों ने, महासमुंद जिले के दो किसानों ने तथा बस्तर, कोंडागांव, कोरबा और दुर्ग जिले में एक-एक किसानों ने आत्महत्या की है।

उन्होंने बताया कि इन तीन सालों में रायपुर जिले में छह किसानों ने आत्महत्या की है। राजनांदगांव जिले में आत्महत्या करने वाले तीन किसानों के परिजनों को राष्ट्रीय परिवार आर्थिक सहायता राशि और मुख्यमंत्री सहायता कोष से सहायता दी गई है।
Special News Coverage
Next Story
Share it