Top
Begin typing your search...

हरीश रावत 34 विधायकों के साथ राज्यपाल केके पॉल से मिलने पहुंचे

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
harish-rawat-

देहरादून
उत्तराखंड के सीएम हरीश रावत ने कहा है कि प्रदेश में लोकतंत्र की हत्या के बाद भी उनके पास बहुमत है। रावत ने सोमवार को राज्यपाल के के पॉल से मुलाकात के बाद यह दावा किया। उन्होंने कहा कि हमने राज्यपाल को दो ज्ञापन दिए हैं। इनमें अपने बहुमत के अलावा विनियोग बिल को विधि के मुताबिक सदन में पास किए जाने की बात कही गई है।

रावत ने कहा कि उन्होंने सदन में बिल पर बहस के दिन मौजूद सभी विधायकों के दस्तखत किए हुए कागजात की कॉपी भी राज्यपाल को सौंपी है। इसके पहले उत्तराखंड में राष्ट्रपति शासन लगाए जाने के बाद हरीश रावत 34 विधायकों के साथ राज्यपाल केके पॉल से मिलने पहुंचे थे। इसके साथ ही कांग्रेस ने हाई कोर्ट में भी याचिका दायर करके आपत्ति दर्ज कराई है। मामले की सुनवाई जस्टिस यूसी ध्यानी की सिंगल बेंच कर रही है।






दो घंटे तक की पैरवी

उधर, केंद्र की ओर से ASG राकेश थपलियाल भी कोर्ट में मौजूद हैं। वरिष्ठ अधिवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने सवा दो घंटे की लंबी पैरवी की। जस्टिस यूसी ध्यानी की एकलपीठ ने मामले को सुनने के बाद 2 बजे दोबारा सुनने को कहा है।

'आज भी बहुमत साबित कर सकते हैं'

कांग्रेस विधायक हेमेश खरकवाल ने राष्ट्रपति शासन लगाए जाने को गलत ठहराया और कहा कि पार्टी आज भी बहुमत साबित कर सकती है। उन्होंने कहा, 'हम आज भी बहुमत साबित कर सकते हैं, यही वजह है कि बीजेपी घबराई हुई है।



Special News Coverage
Next Story
Share it