Top
Begin typing your search...

इंदौरः सांप्रदायिक तनाव के बाद सामान्य हुए हालात, स्थिति नियंत्रण में

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
indaur
इंदौरः अखिल भारतीय हिंदू महासभा के अध्यक्ष द्वारा पैगंबर हजरत मोहम्मद पर दिए गए बयान के विरोध में मंगलवार को शहर के मुस्लिम समुदाय ने रैली निकाली। ईदगाह मैदान से शुरू हुई रैली जब दोपहर करीब 1 बजे रीगल चौराहे पर पहुंची, तो मुस्लिम युवक अचानक उग्र हो उठे। पहले उन्होंने एक शोरुम को बंद कराने के लिए पत्थर बाजी की और फिर वहां रखी गाड़ियों में भी तोड़फोड़ की।

indaur1
इसके पहले वाहनों को रोक कर चौराहे की सारी सड़कें जाम कर दी थी। पूरे मामले में पुलिस का खुफिया तंत्र नाकाम साबित हुआ। काफी देर तक पुलिस उपद्रवियों के सामने असहाय नजर आई, स्थित को काबू में करने के लिए दस थानों से फोर्स बुलाया गया। बाद में पुलिस बल ने लोगों को समझाइश देकर हालात सामान्य कर लिए। फिलहाल स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है।
13indaur


मंगलवार की सुबह मुस्लिम समाज के लगभग 15 हजार लोग छोटी ग्वालटोली इदगाह पर जमा हुए थे। यहां तकरीर के बाद उन्होंने हिन्दू महासभा के नेता कमलेश तिवारी के खिलाफ एसडीएम को ज्ञापन सौंपा। इसके बाद भीड़ का एक हिस्सा रीगल तिराहे की ओर बढ़ा। यहां इन्होंने दुकानें बंद कराना शुरु कर दिया। इनका विरोध करने पर एक शो-रूम और कुछ गाड़ियों में तोड़फोड़ भी कर दी।


छोटी ग्वालटोली इदगाह में इतनी भीड जमा हो गई थी कि समाज के लोग आसपास की बिल्डिंग की छत पर पहुंच गए। इसके बाद खजराना क्षेत्र के अबु रेहान फारुकी ने तकरीर की। बाद में एसडीएम को ज्ञापन देते हुए उन्होंने हिन्दू महासभा के कथित नेता कमलेश तिवारी द्वारा फेसबुक पर कथित रुप से किए गए एक कमेंट के खिलाफ़ कार्रवाई करने की मांग की। सड़क पर इतने लोग जमा हो जाएंगे और इस तरह बवाल मचाएंगे इस बात का पुलिस प्रशासन को कोई अंदाजा नही था। लोगों की भीड़ जहां से निकली वहां चक्का जाम हो गया।
Special News Coverage
Next Story
Share it