Top
Home > Archived > MLA से भिड़ी IPS अधिकारी, तो बना दिया स्कूल का प्रिंसिपल

MLA से भिड़ी IPS अधिकारी, तो बना दिया स्कूल का प्रिंसिपल

 Special News Coverage |  24 Dec 2015 11:14 AM GMT


ips_bharti_
चंडीगढ़ः देश में पहली बार किसी सरकार ने स्कूल में प्रिंसिपल के पद पर किसी आईपीएस अधिकारी की नियुक्ति की है। हालांकि माना जा रहा है कि भारती को अस्थाई तौर पर स्कूल का प्रिंसिपल बनाया जा रहा है।


सूत्रों से जानकारी मिली
हरियाणा की आईपीएस अधिकारी भारती अरोड़ा को 6 साल पुराने विवाद का खामियाजा भुगतना पड़ रहा है। राज्य सरकार ने उन्हें राई के स्पोर्ट्स स्कूल राई का प्रिंसिपल बनाने का फैसला किया है। सूत्रों से जानकारी मिली है कि राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने भारती को इस स्कूल का प्रिंसिपल बनाए जाने का प्रपोजल पास किया है।


2009 में तत्कालीन विधायक को जेल भेजने की सजा
सूत्रों का कहना है कि अंबाना कैंटोनमेंट के तत्कालीन विधायक अनिल विज को जेल भेजने की कीमत भारती को अब चुकानी पड़ रही है. मामला 2009 का है जब विज में एक प्रदर्शन का नेतृत्व किया था और सड़क जाम कर दी थी. उस वक्त सुप्रीटेंडेंट ऑफ पुलिस रही भारती ने विज को गिरफ्तार करने का आदेश दिया था. बाद में उन्हें जमानत मिल गई थी. विज का पिछले दिनों एक और महिला आईपीएस अधिकारी संगीता कालिया के साथ भी विवाद हुआ था, जिसके बाद फतेहाबाद से उनका भी ट्रांसफर कर दिया गया था.

हाई प्रोफाइल रेप केस विवाद से आईं सामने
आईपीएस भारती अरोड़ा गुड़गांव की जॉइंट कमिश्नर थी। पिछले दिनों दुष्कर्म के एक मामले में पुलिस कमिश्नर नवदीप सिंह विर्क के साथ उनका जबरदस्त विवाद हुआ था। उन्होंने विर्क पर उत्पीड़न, मानसिक रूप से प्रताड़ित करने और हाई प्रोफाइल रेप केस में हस्तक्षेप करने का आरोप लगाया था। इसके बाद 12 अक्टूबर को उनका ट्रांसफर कर दिया गया। भारती की पोस्टिंग पंचकुला के पुलिस हेडक्वार्टर्स में बतौर डिप्टी इंसपेक्टर जनरल ऑफ पुलिस (वेलफेयर एंड ट्रेनिंग) कर दी गई थी।



Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it