Top
Begin typing your search...

हरियाणा जाट आरक्षण : CM खट्टर व हुड्डा की मौजूदगी में सर्वदलीय बैठक शुरू

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
CM खट्टर व हुड्डा की मौजूदगी में सर्वदलीय बैठक शुरू



रोहतक : आरक्षण की मांग को लेकर जाटों का आंदोलन उग्र हो गया है। आज आंदोलन का छठा दिन है। तनाव को देखते हुए हरियाणा में मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है। आंदोलन के पांचवें दिन रोहतक में जमकर बवाल हुआ था। कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए कई शहरों में धारा 144 लगा दी गई। रोहतक और झज्जर में स्कूल और कॉलेज 22 फरवरी तक बंद कर दिए गए हैं।

वहीं, जाट आरक्षण की मांग को लेकर हिंसक होते प्रदर्शन के बीच खट्टर सरकार ने आज सर्वदलीय बैठक बुलाई है। चंडीगढ़ में शुरू हुई सर्वदलीय बैठक में सीएम खट्टर समेत कैबिनेट मंत्री रामबिलास शर्मा पहुंच चुके हैं। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला भी बैठक में मौजूद हैं। इसके अलावा सूबे के पूर्व मुखिया भूपेंद्र सिंह हुड्डा, कांग्रेस नेता किरण चौधरी, अशोक तंवर पहुंच चुके हैं। साथ ही इंडियन नेशनल लोकदल से अशोक अरोड़ा और जसविंदर संधू भी बैठक में मौजूद है। बसपा की तरफ से टेक चंद शर्मा भी बैठक में पहुंचे हैं।

गुरुवार को रोहतक कोर्ट परिसर में आरक्षण की मांग को लेकर दो गुटों के आपस में भिड़ंत के बाद यह बैठक बुलाई गई है। पुलिस की मौजूदगी में ही दोनों गुटों के बीच टकराव हुआ और जमकर कुर्सियां चलीं। राज्य सरकार ने रोहतक, झज्जर और सोनीपत में अतिरिक्त पुलिस बल भेजने का फ़ैसला लिया है।

आंदोलन के केंद्र रोहतक-झज्जर क्षेत्र में रेल और सड़क यातायात सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ। भिवानी, सोनीपत, हिसार भी आंदोलन से व्यापक रूप से प्रभावित हुए हैं। आंदोलनकारियों ने जाटों को शामिल करने के लिए आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग के लिए कोटा बढ़ाने की मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की पेशकश को खारिज कर दिया। आंदोलनकारियों ने पानीपत में भी कई स्थानों पर सड़कों को जाम कर दिया।

उत्तर रेलवे के चीफ पब्लिक रिलेशन ऑफिसर नीरज शर्मा ने कहा कि जाट आंदोलन के चलते रेलवे यातायात बुरी तरह प्रभावित हो गया है। कई ट्रेनों को जहां रद किया गया है वहीं कई के रूट बदल दिए गए हैं। मालगाडिय़ां भी प्रभावित हुई हैं जिससे कुल मिलाकर 100 करोड़ रुपये के नुकसान का अनुमान है।

इस प्रदर्शन से सरकार राज्य में कारोबार ठप हो गया है। राज्य में सामान लेकर आने वाले ट्रकों की आवाजाही भी बंद हो गई है। रोहतक बाईपास पर ट्रकों की लंबी कतार लग गई है।
Special News Coverage
Next Story
Share it