Top
Begin typing your search...

दिल्लीः ज्वाइंट टास्क फ़ोर्स करेगी सभी स्कूलों का मुआयना

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
Manish
देश की जाने माने शिक्षा संस्थान रियान इंटरनेशनल स्कूल में 6 साल के एक बच्चे की मौत का मामला सामने आने के बाद दिल्ली के स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा को लेकर उप-मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने रविवार को दिल्ली सचिवालय में एक आपातकालीन मीटिंग बुलाई।

इसमें शिक्षा सचिव, सभी उप शिक्षा निदेशक (DDE), शिक्षा अधिकारी (EO), सरकारी और प्राइवेट स्कूलों के कुछ प्रिंसिपल्स और टीचर्स सहित शिक्षा विभाग के अनेक सीनियर ऑफिसर्स मौजूद रहे। उप-मुख्यमंत्री ने कहा, 'पहले एक एमसीडी स्कूल में और फिर एक नामी-गिरामी प्राइवेट स्कूल में मासूम बच्चों की मौत से मैं बहुत सहमा हुआ हूं। बच्चों की सुरक्षा को लेकर बहुत चिंतित हूं।'

बैठक में फैसला लिया गया कि सभी सरकारी, एमसीडी और प्राइवेट स्कूलों को निर्देश दिया जाएगा कि वे अपने स्कूल कैंपस और बिल्डिंग का मुआयना करके देखें कि वहां कोई ऐसी खतरनाक जगह या कारण तो नहीं हैं जिससे किसी हादसे की आंशका हो। अगर ऐसा है तो उसे ठीक कराएं। इसके अलावा सभी स्कूलों को एक सेल्फ डेक्लेरेशन देना होगा कि उनके स्कूल कैंपस सुरक्षित हैं।

उप-मुख्यमंत्री ने कहा कि अलग-अलग जोन के लिए डीएम, एसडीएम, शिक्षा विभाग, पीडब्ल्यूडी, दिल्ली जल बोर्ड, फायर डिपार्टमेंट, दिल्ली नगर निगम के अधिकारियों की ज्वाइंट टास्क फोर्स बनाई जाएगी। ये टास्क फोर्स अपने-अपने जोन के सभी स्कूलों का मुआयना करेगी।

इस तरह अगले करीब एक महीने में तकरीबन 3,500 स्कूल बिल्डिंग्स का मुआयना कराया जाएगा। ये टास्क फोर्स स्कूलों में जाकर ये देखेगी कि उनका दिया हुआ डेक्लेरेशन सही है या नहीं? अगर कोई स्कूल गलत सूचनाएं देगा तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।
Special News Coverage
Next Story
Share it