Top
Begin typing your search...

मुस्लिम संघठन की मांग- राहुल को भी गिरफ्तार कर भेजो जेल

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

rahul gandhi

रायपुर
जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में जो भारत विरोधी गतिविधियां हो रही हैं उसके विरोध में देश के कई स्थानों पर देशभक्त नागरिक धर्म, पंथ, जात, भाषा आदि के भेद भूलाकर एक स्वर में इन देशद्रोहियों के खिलाफ आवाज बुलंद कर रहे हैं। इसी सिलसिले में मुस्लिम राष्ट्रीय मंच (एमआरएम) ने छत्तीसगढ़ के विभिन्न स्थानों पर धरना प्रदर्शन किया।


मंच के राज्य संयोजक डॉ. सलीम राज के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने रायपुर स्थिति आजाद चौक, बिरगांव और भिलाई पॉवर हाउस परिसर में देशद्रोहियों के खिलाफ प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के दौरान मुस्लिमों ने देशद्रोही छात्रों का समर्थन करनेवाले कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी को गिरफ्तार करने की मांग की। उल्लेखनीय है कि दो दिन पहले मुस्लिम राष्ट्रीय मंच ने दिल्ली के जंतर-मंतर में धरना प्रदर्शन किया था जिसमें सैंकड़ों कार्यकर्ताओं ने हिस्सा लिया। विरोध प्रदर्शन करते लोगों ने जेएनयू में पाकिस्तान समर्थित नारे को देशद्रोह और देश बांटने की साजिशवाला बताया। देश की सुरक्षा से सम्बंधित इस मामले में सियासत करणे पर कांग्रेस और वामपंथी पार्टियों को देशद्रोही बताया।

मंच के राष्ट्रीय संयोजक मोहम्मद अफजाल ने कहा कि यह शर्मनाक है कि जो छात्र देश की बर्बादी का नारा लगा रहे थे, उनके समर्थन में वामपंथ के वरिष्ठ नेता सीताराम येचुरी व कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने जेएनयू में प्रदर्शन किया और सहयोग का वादा किया। मंच के दिल्ली प्रांत के संयोजक एडवोकेट यासिर अली जिलानी ने कहा कि हिदुस्तान में जो आपसी सौहार्द्र और भाईचारा का माहौल बना है, वह देश के चंद नेताओं को बर्दाश्त नहीं हो रहा है। वह देश का माहौल खराब करने में जुटे हैं। देश को तोड़नेवाली राजनीति को हवा दी जा रही है।



मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के राष्ट्रीय संगठन संयोजक गिरीश जुयाल ने कहा कि जेएनयू बच्चों और अभिभावकों के लिए एक सपने की तरह है। कोशिश होती है कि छात्र पढ़कर देश सेवा के लिए आईपीएस, आईएएस व रिसर्चर बनें, लेकिन वहां राष्ट्रविरोधी गतिविधियों को हवा दी जा रही है। मंच ने जेएनयू के देशद्रोही छात्रों व उनका समर्थन करनेवाले कांग्रेसी और वामपंथी नेता तथाकथित सेक्युलर नेताओं के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

Special News Coverage
Next Story
Share it