Top
Begin typing your search...

अलगाववादी नेता असिया अंद्राबी का IS से रिश्ते रखने का शक, 3 लड़कों को बुलाया था श्रीनगर

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
Ashiya


नई दिल्ली : नागपुर एयरपोर्ट से पिछले हफ्ते गिरफ्तार किए गए तीन लडकों ने पूछताछ में चौकाने वाला खुलासा किया है। लडकों ने बताया कि कश्मीर की अलगाववादी नेता असिया अंद्राबी ने उन्हें मदद देने के लिए श्रीनगर बुलाया। ये लडके आतंकी संगठन आईएस से जुडना चाहते थे।

हालांकि, असिया ने इन आरोपों से इनकार किया है। आसिया ने कहा कि यह उसकी इमेज को खराब करने की कोशिश है और इन तीन लडकों के बारे में उसे जानकारी मीडिया के जरिए मिली। हालांकि, अंद्राबी ने सैयद सलाहुद्दीन से संबंधों की बात मानी है।

उसने कहा कि पुलिस जांच में साबित हो जाएगा कि उसके ऊपर लग रहे आरोप गलत हैं। एक अंग्रेजी अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक, लडकों से पूछताछ के दौरान यह सामने आया कि उनके संबंध पाकिस्तान को सपोर्ट करने वाले कश्मीरी संगठन दुख्तरान-ए-मिल्लत की लीडर असिया अंद्राबी से हैं।

लडकों ने बताया कि असिया ने उनसे कहा था कि वे श्रीनगर आ जाएं और फिर उन्हें पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) भेज दिया जाएगा। इसके बाद वे आसानी से मिडल ईस्ट के किसी देश में जाकर आईएस में शामिल हो सकते हैं। इन लडकों को पिछले हफ्ते महाराष्ट्र एटीएस ने नागपुर से गिरफ्तार किया था।

ऑर्गेनाइजेशन सिमी के मेंबर थे तीन युवक :
पकडे गए मोहम्मद अब्दुल्ला, सैयद उमर फारूख और माज हसन फारूख कजीन है और इनकी उम्र 20 साल के आसपास है। ये तीनों ही तेलंगाना के रहने वाले हैं और बैन किए जा चुके ऑर्गेनाइजेशन सिमी के मेंबर हैं।

आईएस के ऑनलाइन प्रोपेगैंडा के झांसे में फंसे :
पुलिस को शक है कि ये तीनों आईएस से प्रभावित हैं और इसमें शामिल होने के लिए जा रहे थे। पुलिस के मुताबिक, तीनों ही लडके आईएस के ऑनलाइन प्रोपेगैंडा के झांसे में फंस गए थे। इन तीनों का प्लान पीओके से अफगानिस्तान और वहां से सीरिया या इराक जाने का था।
Special News Coverage
Next Story
Share it