Top
Begin typing your search...

यूपी : बीएड एग्जाम के लिए बैठे 12000 कैंडिडेट्स, पास हो गए 20 हजार - जांच के आदेश

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
Dr. Bhimrao Ambedkar University


आगरा : उत्तर प्रदेश के डॉ. भीमराव आंबेडकर यूनिवर्सिटी में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। यहां पर एग्जाम में बैठे कैंडिडेट्स से ज्यादा कैंडिडेट्स पास हो गए। दरअसल 2014-15 में कराए गए बीएड एग्जाम में 12 हजार 800 कैंडिडेट्स ने एग्जाम दिया था, लेकिन 20 हजार 97 कैंडिडेट्स पास हो गए। हालांकि एग्जाम की फाइनल लिस्ट अभी नहीं आई है।

यूनिवर्सिटी के प्रवक्ता प्रो. मनोज श्रीवास्तव का कहना है, "मामला सामने आने के बाद वीसी ने जांच के ऑर्डर दे दिए हैं। इसके लिए एक कमिटी बनाई गई है। यूनिवर्सिटी ने प्राइवेट कॉलेज अथॉरिटी को लेटर भी इश्यू किया है, जिनमें उनसे जवाब मांगा गया है।"

काउंसलिंग में 191 कॉलेजों के 13,449 कैंडिडेट्स शामिल हुए थे, जबकि जुलाई में हुए मेन एग्जाम में 12,800 कैंडिडेट्स को मौका मिला। इसके बाद भी एजेंसी को मार्कशीट तैयार करने के लिए 20,097 कैंडिडेट्स की डिटेल दी गई। एजेंसी ने शक होने पर इसकी जानकारी रजिस्ट्रार को दी। एजेंसी की रिपोर्ट के आधार पर यूनिवर्सिटी के वीसी प्रो. मोहम्मद मुजम्मिल ने जांच के ऑर्डर दिए हैं।

इस मामले में यूपी हाईकोर्ट का फैसला भी आया था। काउंसलिंग में करीब 40 फीसदी सीट खाली रहने पर प्राइवेट कॉलेज कोर्ट में गए थे। कोर्ट ने एंट्रेंस एग्जाम देने वाले कैंडिडेट्स को मेन एग्जाम में शामिल होने का ऑर्डर दिया था। इसके लिए कॉलेज को दो अखबारों में एड देकर इन्फॉर्म करना था। हालांकि, आंबेडकर यूनिवर्सिटी ने उन कैंडिडेट्स को एंट्री दी, जिन्होंने एग्जाम दिया ही नहीं। ऐसे में कोर्ट के ऑर्डर का उल्लंघन हुआ।
Special News Coverage
Next Story
Share it