Top
Begin typing your search...

'हिंदू महासभा के अध्‍यक्ष का सिर लाओ, 51 लाख इनाम पाओ'

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
bijnor news


बिजनौर : हजरत मोहम्मद साहब पर विवादित टिप्पणी करने वाले हिंदू महासभा के कार्यकारी अध्यक्ष कमलेश तिवारी का सिर कलम कर लाने वाले को बिजनौर में जमीअत शबाबुल इस्लाम के पश्चिमी उत्तर प्रदेश महासचिव तथा जामा मस्जिद के इमाम मौलाना अनवारुल हक ने 51 लाख रुपए देने का एलान किया है। उन्होंने कमलेश तिवारी को फांसी की सजा देने तथा ईस्लाम धर्म के खिलाफ विवादित टिप्पणी करने वालों पर रासुका लगाने की मांग की।

जमीअत शबाबुल इस्लाम समेत कई मुस्लिम संगठनों ने बिजनौर में विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान कलेक्ट्रेट के बाहर सड़क पर जाम भी लगाया गया।

मुस्लिम संगठनों के प्रदर्शन के दौरान उलमा ने कहा कि आजम खान मुस्लमान नही हैं। उन्हें मुस्लमानों की परवाह नहीं। उन्होंने संघ को लेकर जो बयान दिया, वह उनका व्यक्तिगत बयान हो सकता है, लेकिन कमलेश तिवारी ने सीधे तौर पर इस्लाम पर हमला बोला है। इसे मुस्लिम किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करेंगे।

वहीं इस दौरान उन्होंने हिंदू महासभा पर प्रतिबंध लगाने और उसे आतंकी संगठन घोषित करने की मांग के अलावा संघ परिवार के नेताओं पर विवादित बयान देने पर रोक लगाने और इस्लाम के खिलाफ भड़काऊ भाषण देने वालों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने की मांग भी की।

आपको बता दें कि आजम खान के आरएसएस पर गे राइट्स के विवादास्पद बयान के बाद कमलेश तिवारी ने मुसलमानों के पैगंबर मोहम्मद साहब को गे करार दिया था। उन्होंने कहा था कि मोहम्मद साहब दुनिया के पहले समलैंगिक व्यक्ति हैं। अखिल भारतीय हिंदू महासभा ने प्रेसनोट के जरिए बयान जारी किया था। उन्होंने कहा था कि मोहम्मद साहब सिर्फ समलैंगिक ही नहीं, बल्कि रेपिस्ट भी थे। साथ ही वह आतंकवादी भी थे। हिंदू महासभा के कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी का कहना था कि पैगंबर मोहम्मद साहब ने अपने दोस्त अबू बकर के साथ अंतरंग संबंध बनाए, जिसके चलते अबू बकर की 9 साल की बेटी भी रेप का शिकार हुई।
Special News Coverage
Next Story
Share it