Top
Home > Archived > बदहबास बाबा की दर्दनाक पुकार, बिटिया सो रही है, उसे जगाओ मत

बदहबास बाबा की दर्दनाक पुकार, "बिटिया सो रही है, उसे जगाओ मत"

 Special News Coverage |  13 March 2016 6:47 AM GMT

A child died
बाराबंकी
जिला अस्पताल में इलाज में देरी से शनिवार को चार साल की बच्ची की मौत हो गई। पेट दर्द से परेशान बच्ची को जब उसका बाबा ओपीडी में डॉक्टर के पास पहुंचा तो डॉक्टर ने तुरंत इलाज शुरू करने या उसे इमरजेंसी वार्ड में भेजने के बजाय उसे ब्लड जांच के लिए ब्लड बैंक भेज दिया।



बाबा बच्ची का सैंपल लेकर जब तक डॉक्टर के पास लौटता उसकी हालत गंभीर हो गई और इलाज शुरू होते ही बच्ची ने दम तोड़ दिया। बदहवास बाबा नन्हीं सी जान को सीने से चिपकाए अस्पताल परिसर में इधर-उधर दौड़ता रहा। वह बच्ची को गोद में लिए ही बेहोश हो गया। इस बीच वह कई बार होश में आता रहा और बेहोश होता रहा।



barabank
जैदपुर थाना क्षेत्र के जौहरीउद्दीनपुर निवासी राजू की चार साल की पुत्री नैना की तबियत पिछले करीब 15 दिनों से खराब चल रही थी। उसे पेट दर्द की शिकायत थी। परिवारीजन नैना का इलाज स्थानीय झोलाछाप के यहां करा रहे थे, लेकिन उसे कोई कोई लाभ नहीं मिला।

लगातार नैना को पेट दर्द की शिकायत बढ़ती जा रही थी। शनिवार को हालत बिगड़ने पर झोलाछाप ने भी हाथ खड़े कर दिए, इस पर मासूम नैना का बाबा अवधराम उसे लेकर जिला अस्पताल पहुंचा।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story

नवीनतम

Share it