Home > Archived > अल्पसंख्यकों के कल्याण के लिए मोदी ने 1500 करोड़ की जगह 3000 करोड़ दिए - नजमा हेपतुल्ला

अल्पसंख्यकों के कल्याण के लिए मोदी ने 1500 करोड़ की जगह 3000 करोड़ दिए - नजमा हेपतुल्ला

 Special News Coverage |  3 April 2016 8:30 AM GMT

njma heptullaअल्पसंख्यकों के कल्याण के लिए मोदी ने 1500 करोड़ की जगह 3000 करोड़ दिए - नजमा हेपतुल्ला

लखनऊ
केन्द्रीय अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री डा नजमा हेपतुल्ला ने अपने एक दिवसीय लखनऊ प्रवास के अंतर्गत भारतीय जनता पार्टी प्रदेश कार्यालय पहूंची।
पार्टी मुख्यालय में प्रेस से चर्चा करते हुए उन्हें मोदी सरकार द्वारा अल्पसंख्यकों के कल्याण हेतु केन्द्र सरकार सरकार द्वारा चलाए जा रहे अनेक कल्याणकारी योजनाओं पर चर्चा की तथा अल्पसंख्यक कल्याण योजनाओं के क्रियान्वयन में यूपी सरकार के असहयोग पर गहरा क्षोभ व्यक्त किया। डा नजमा हेपतुल्ला ने बताया कि अल्पसंख्यक कल्याण मंत्रालय 86 लाख बच्चों को प्रीमैट्रिक पोस्ट मैट्रिक तथा मेरिट कम मीन्स कटेगरी को स्कालरशिप के माध्यम से उनकों शिक्षा में मदद कर रहा है। स्कालरशिप योजना के अन्र्तगत 30 प्रतिशत बालिकाओं के शिक्षा के लिए आराक्षित है। उन्होंने बताया कि 2000 करोड़ से अधिक धनराशि अल्पसंख्यक वर्ग के बच्चों को प्रदान की जा रही है। डा हेपतुल्ला ने बताया कि अब तक लगभग 25000 अल्पसंख्यक वर्ग के बच्चों को स्किल डेबलपमेंट योजना के माध्यम से प्राशिक्षित किया जा चुका हैं।



उन्होंने यूपी सरकार पर आरोप लगाया कि यूपी की सपा सरकार केवल अल्पसंख्यकों के कल्याण का ढि़ढोरा पीटती है और अल्पसंख्यकों की शिक्षा, रोजगार, तकनीकी विकास के बेहतरी के लिए मोदी सरकार द्वारा किये जो रहे कार्यो में कतई सहयोग नहीं करती। उन्होंने कहा कि यूपी सरकार वक्फबोर्ड के मंत्री व अधिकार नेशनल वक्फ काउसिंल की मीटिंगों में नहीं आते न ही पत्रों का जबाव देते है। उन्होंने कहा कि इतना ही नहीं अल्पसंख्यक कल्याण मद में केन्द्र सरकार से मिले धन का युटिलाइजेशन सर्टीफीकेट तक नहीं देते जिसके कारण केन्द्र सरकार अल्पसंख्यक कल्याण के मद में धन अवमुक्त नहीं कर पाती।


डा नजमा हेपतुल्ला ने कहा कि उ0प्र0 में लगभग 1.5 लाख करोड़ की वक्फ की सम्पत्तियों का का व्यौरा यूपी वक्फ बोर्ड नहीं देता जिसके कारण अल्पसंख्यकों के कल्याण के लिए जिन सम्पत्तियों का भारी उपयोग हो सकता था उसका प्रदेश सरकार द्वारा संरक्षित लोग दोहन कर रहे है। उन्होंने यह भी कहा कि यदि यूपी का वक्फ विभाग वक्फ सम्पात्तियों का ब्यौरा नहीं उपलब्ध करायेगा तो वह यहां आकर धरने पर बैठने को मजबूर होगी।

मोदी ने 1500 करोड़ से किये 3000 करोड़
उन्होंने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री का कमिटमेन्ट सबका साथ सबका विकास है। जिसके लिए वह सतत कार्य कर रहे है। उन्होंने बताया कि मोदी जी अल्पसंख्यक वित्त विकास निगम का कारपस फन्ड 1500 करोड़ से बढ़ाकर 3000 करोड़ कर दिया जो यूपीए सरकार में लाम्बित था। तथा गरीब अल्पसंख्यक बच्चों के स्कालरशिप के मद का वह पैसा जिसे बच्चे आनलाइन आवेदन नहीं कर पाये थे वह धन वित्त मंत्री अलग एकाउन्ट में रखने की अनुमति प्रदान करने का ऐतिहासिक फैसला किया अन्यथा गरीब बच्चों को स्कालरशिप न मिल पाती।


डा नजमाहेपतुल्ला ने बताया कि वहा यहां इन्टेगरल यूनिर्वसिटी द्वारा किये जा रहे स्किलडेबलपमेंट प्रोगाम को प्रारम्भ करने के लिए आई है। जिसमें केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह भी शामिल होगे। उन्होंने कहा कि इसके माध्यम से हम 9 मदरसों के बच्चों को स्किल डेवलपमेंट प्रोग्राम के अन्र्तगत प्रशिक्षण प्रदान करेगे जिससे उन्हें रोजगार मुहैया हो सके। हेपतुल्ला आगामी 12 अप्रैल को प्रधानमंत्री के चुनाव क्षेत्र वाराणसी में स्किलडेबलपमेंट कार्यक्रम में शिरकत करेगी कार्यक्रम के लिए उन्होंने प्रदेश अध्यक्ष को भी आंमत्रित किया है।


इस दौरान कार्यालय पर उपस्थित प्रमुख लोगों में प्रदेश उपाध्यक्ष शिव प्रताप शुक्ला, सरिता भदौरिया, प्रदेश महामंत्री अनुपमा जायसवाल, प्रदेश मंत्री वीरेन्द्र तिवारी, प्रदेश प्रवक्ता हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव, आई0पी0 सिंह, प्रदेश मीडिया प्रभारी मनीष शुक्ला, तनवीर हैदर उस्मानी, गैरूल हसन रिजवी, पुष्पेन्द्र चन्देल, गंगा चरण राजपूत आदि लोग रहे।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top