Top
Home > Archived > शिक्षा का गिरता स्तर कौम व देश के लिए घातक: मौलाना रहमानी

शिक्षा का गिरता स्तर कौम व देश के लिए घातक: मौलाना रहमानी

 Special News Coverage |  17 March 2016 2:19 PM GMT

saharanpur

सहारनपुर दिनेश मोर्य
आॅल इण्डिया मुस्लिम पर्सनल लाॅ बोर्ड के महासचिव मौलाना सयैद वली रहमानी ने कहा कि मौजूदा समय में शिक्षा का गिरता स्तर कौम व देश के लिए हितकारी नही है। सभी को मिलकर गरीब एवं कमजोर वर्ग में शिक्षा के महत्व को बढ़ावा देना होगा।


मौलाना सयैद वली रहमानी जामिया रहमत घरौली में आयोजित रहमत कांफ्रंस की सदारत करते हुए बोल रहे थे। उन्होने कहा कि आज देश के कमजोर वर्ग के अन्दर शिक्षा का स्तर बेहतर नही है। ज्यादातर लोग गरीब वर्ग के बच्चों को शिक्षा देने के बजाय उनसे बेगार कराने का काम करते हैं, जो आने वाले समय में बेरोजगारी व बरबादी का कारण साबित होगा। साथ ही इससे देश का विकास भी प्रभावित होगा। उन्होने कहा कि अल्लाह के हुमुम पर चल कर ही दुनिया व आखिरत की कामयाबी है तथा यही रास्ता जात-पात के झगड़ो को खत्म करके भाई चारा कायम करने वाला है।


इस मौके पर रहमत कांफ्रेंस के दौरान 10 हाफिजों की दस्तारबंदी तथा 5 जोड़ों का निकाह भी कराया गया। मौलाना वली रहमानी व आचार्य प्रमोद कृष्ण को सद्भावना के लिये मुगीसी आवार्ड भी दिया गया। कांफंे्रस का संचालन मौलाना रियाज़ नदवी व मौलाना अब्दुल मालिक मुगीसी ने किया। कांफंे्रस में हरियाण पंजाब, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखण्ड, करनाटका, झारखण्ड, बिहार एवं गुजरात के दीनी उलेमाओं ने भागीदारी की।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story

नवीनतम

Share it