Top
Home > Archived > इस महिला के कारण पुलिस की छावनी बना शनि मन्दिर

इस महिला के कारण पुलिस की छावनी बना शनि मन्दिर

 Special News Coverage |  25 Jan 2016 2:24 PM GMT



अहमदनगरः एक महिला संगठन ने मंगलवार को प्रसिद्ध शनि शिंगनापुर मंदिर में प्रवेश करने की धमकी दी है। उसने कहा है कि जरूरी हुआ तो उसकी कार्यकर्ता हेलीकॉप्टर के जरिये मंदिर में उतरेंगी। मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर पाबंदी है। संगठन की धमकी बाद मंदिर परिसर में सुरक्षा बढ़ा दी गई है।


भूमाता रणरागिनी ब्रिगेड की अध्यक्ष तृप्ति देसाई ने बताया कि पूरे महाराष्ट्र से करीब 1500 महिलाएं शनि मंदिर में प्रवेश करेंगी और पूजा-अर्चना करेंगी। उन्होंने कहा, 'हम किसी सुरक्षा इंतजाम से नहीं डरते क्योंकि यह महिलाओं के अधिकार का मामला है।



कौन हैं तृप्ति देसाई?
- पुणे की रहने वाली तृप्ति देसाई पिछले कई सालों से महिलाओं के हितों के लिए काम कर रही हैं।
- इसके लिए उन्होंने 'भूमाता ब्रिगेड' नाम की संस्था भी शुरू की है।
- सिर्फ पुणे में ही नहीं संस्था की शाखा अहमदनगर, नासिक और सोलापुर में भी है।
- वर्तमान समय में इस संस्था से 5000 से ज्यादा महिलाएं जुड़ी हुई हैं।
- इससे पहले वह अन्ना हजारे के संगठन इंडिया अगेंस्ट करप्शन से जुड़ी रही हैं।
- तृप्ति ने मुंबई के एसएनडीटी यूनिवर्सिटी से पढ़ाई की है।


उन्होंने कहा कि जमीन के रास्ते मंदिर में प्रवेश नहीं करने दिया गया तो हमने इसके लिए एक हेलीकॉप्टर बुक करा लिया है। हेलीकॉप्टर के जरिये सीढ़ी से हम मंदिर में उतरेंगे। उधर, मंदिर ट्रस्ट के सदस्यों का कहना है कि वे महिलाओं का सम्मान करते हैं, लेकिन परंपरा के अनुसार महिलाएं मंदिर में पूजा नहीं कर सकतीं और हम इसे बदल नहीं सकते।

मंदिर के आसपास सुरक्षा कड़ी
- मंदिर के आसपास धारा 144 लगाई गई है। यहां महिलाओं के एक जगह जमा होने पर रोक है।
- शिंगणापुर में तनाव को देखते हुए ज्यादा पुलिस फोर्स तैनात की गई है।
- मुख्य मंदिर में चबूतरे के बाहर 40 महिला सुरक्षाकर्मियों का पहरा रहेगा।
- महिलाओं को रोकने के लिए स्थानीय निवासियों के अलावा शिवसेना के कार्यकर्ता भी वहां मौजूद होंगे।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it