Home > तमिलनाडु व केरल में चक्रवात ओखी का तांडव, 8 की मौत, कई लापता

तमिलनाडु व केरल में चक्रवात ओखी का तांडव, 8 की मौत, कई लापता

दक्षिणी तमिलनाडु में कई जिलों में शैक्षणिक संस्थानों को बंद कर दिया गया है.

 Ekta singh |  2017-12-01 06:35:32.0  |  नई दिल्ली

तमिलनाडु व केरल में चक्रवात ओखी का तांडव, 8 की मौत, कई लापता

नई दिल्ली: दक्षिण भारत में चक्रवात 'ओखी' के कारण आम जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ हैं. चक्रवात 'ओखी' के कारण तमिलनाडु और केरल के दक्षिणी जिलों में मौसम खराब बना हुआ है. अब तक आठ लोगों की मौत हो गई. वहीं, तमिलनाडु के 4 नाविक और केरल की 13 बोट गायब हैं. बताया जा रहा है कि इन 13 बोट पर 38 लोग सवार थे.

राज्य सरकार ने अधिकारियों से कहा है कि दक्षिणी जिलों के निचले इलाकों में रहने वाले लोगों को राहत केंद्रों में ले जाया जाए. दक्षिणी तमिलनाडु में कई जिलों में शैक्षणिक संस्थानों को बंद कर दिया गया है.

चक्रवात के मद्देनजर सर्च ऑपरेशन के लिए इंडियन नेवी के 5 शि‍प कोच्चि से चले हैं. वहीं लक्ष्यद्वीप में 2 शि‍प को स्टैंडबाय पर रखा गया है. चक्रवात के कारण केरल में होने वाले किसी तरह के नुकसान की स्थिति में सहायता और राहत देने के लिए भी तैयार है. वहीं, इसके अलावा P8I एयरक्राफ्ट और कोस्ट गार्ड भी रेस्क्यू और सर्च ऑपरेशन में लगे हैं.

भारतीय मौसम विभाग की ओर से जारी बुलेटिन के अनुसार 65-75 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से हवा चल रही है और दक्षिणी केरल में अगले 48 घंटों और दक्षिणी तमिलनाडु में 24 घंटों के भीतर इसके 85 किलोमीटर प्रति घंटे तक पहुंचने की संभावना है. यह चक्रवाती तूफान लक्षद्वीप की ओर बढ़ रहा है और यह दो दिसंबर तक यहां पहुंच जाएगा.

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी का दौरा खराब मौसम की वजह से स्थगित कर दिया गया. उन्हें शुक्रवार को केरल की राजधानी आना था और राज्य भर में निकाली गई यात्रा के समापन पर एक कार्यक्रम में हिस्सा लेना था.

इस यात्रा को राज्य के पूर्व मंत्री व विपक्ष के नेता रमेश चेन्निथला की अगुवाई में निकाला गया था. चेन्निथला के कार्यालय ने कहा, "खराब मौसम की वजह से व एक समुद्र तट स्थल पर उनकी सार्वजनिक सभा की सुरक्षा चिंताओं को ध्यान में रखते हुए उनके दौरे को टाल दिया गया है."

चक्रवाती तूफान के चलते इन इलाकों में अगले 12 घंटे से लेकर 48 घंटे तक समंदर की ऊंची-ऊंची लहरें उठेगी. मौसम विभाग ने दक्षिण केरल में अलपुझा कोट्टयम इडुक्की कोल्लम तिरुवनंतपुरम जिलों में नुकसान की आशंका जाहिर की है.

इसके साथ इन जिलों से लगे हुए तमिलनाडु के कन्याकुमारी टूटूकुड़ी तिरुनेलवेली जिलों में भी मौसम के चलते नुकसान होने की आशंका जताई गई है.

भारतीय मौसम विभाग के अनुसार,अगले 24 घंटे में लक्षद्वीप के तमाम इलाकों में इस साइक्लोन के चलते झमाझम बारिश होगी और तेज हवाएं चलेंगी. लिहाजा यहां पर अगले 48 घंटों के लिए मछुआरों को समंदर में ना जाने की सलाह दी गई है.

Tags:    
Share it
Top