Home > बुर्के में भीड़ के सामने नाची महिलाएं, सोशल मीडिया पर बवाल

बुर्के में भीड़ के सामने नाची महिलाएं, सोशल मीडिया पर बवाल

केरल के मल्लापुरम में एड्स के खिलाफ जागरुकता फैलाने के मकसद से लड़कियों ने डांस किया था. डांस के दौरान लड़कियां बुर्के में थी.

 Ekta singh |  2017-12-04 10:37:00.0  |  नई दिल्ली

बुर्के में भीड़ के सामने नाची महिलाएं, सोशल मीडिया पर बवाल

नई दिल्ली: इन दिनों बुर्का पहने तीन लड़कियों के फ्लैश मॉब में डांस करने का विडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है. कुछ मुस्लिम संगठन लड़कियों की आलोचना कर रहे हैं.

बताया जा रहा है वीडियो 1 दिसंबर का है. केरल के मल्लापुरम में एड्स के खिलाफ जागरुकता फैलाने के मकसद से लड़कियों ने डांस किया था. डांस के दौरान लड़कियां बुर्के में थी. इस वीडियो के शेयर होते ही सोशल मीडिया पर उन्हें लोगों ने निशाने पर ले लिया.

लोगों ने लिखा कि बुर्का पहनकर नाचना इस्लाम के खिलाफ है. पब्लिक में नाचकर जागरुकता नहीं फैलने वाली. यही नहीं, सोशल मीडिया पर उन्हें भद्दी गालियां तो दी ही गई साथ ही धमकियां भी मिली.

इस बारे में मल्लापुरम डिप्टी डिस्ट्रिक्ट मेडिकल ऑफिसर डॉ. मोहम्मद अली ने बताया कि एड्स के खिलाफ जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से एक

प्राइवेट डेंटल कॉलेज ने फ़्लैश मॉब का आयोजन किया गया था.

इस अभियान में डेंटल कॉलेज के अलावा शहर भर के कई स्कूल और कॉलेज की लड़कियों ने हिस्सा लिया था. इसी दौरान इन तीनों लड़कियों ने डांस किया. लड़कियों का उद्देश्य लोगों को एड्स के खिलाफ जागरूक करना था.

एक तरफ लड़कियों की आलोचना कर उन्हें निशाने पर लिया जा रहा है वहीं दूसरी ओर कई लोग उनका समर्थन भी कर रहे हैं. सोशल मीडिया कार्यकर्ता और मेडिकल ऑफिसर

डॉ. शिमना अजीज फेसबुक पर लिखती हैं, लड़कियों को आजादी से वंचित रखने की बात करने वालों के पीछे अल्पसंख्यकों का एक छोटा तबका ही है.

वह आगे लिखती हैं, यह दुर्भाग्यवश है कि लोगों का एक हिस्सा महिलाओं को 'वस्तु' की तरह देखता है और उन्हें यह समझना चाहिए कि सार्वजनिक रूप से लड़कियों को अपशब्द कहना भी धार्मिक विचारधारा के खिलाफ है. लड़कियां लोगों को जागरूक कर रही थीं. उन्होंने बुर्का पहनकर डांस किया. इससे इस्लाम का अपमान नहीं हुआ है.


Tags:    
Share it
Top