Home > राज्य > कर्नाटक की सियासत में एचडी कुमारस्वामी सरकार मिली थोड़ी राहत,

कर्नाटक की सियासत में एचडी कुमारस्वामी सरकार मिली थोड़ी राहत,

सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार16 जुलाई तक स्पीकर इन विधायकों पर कुछ फैसला नही कर सकते।

 Sujeet Kumar Gupta |  13 July 2019 6:58 AM GMT  |  नई दिल्ली

कर्नाटक की सियासत में एचडी कुमारस्वामी सरकार मिली थोड़ी राहत,

नई दिल्ली। कर्नाटक में जारी राजनीतिक संकट अब कुछ और समय के लिए बढ़ गया है। शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने आदेश जारी किया है कि कर्नाटक विधानसभा के स्पीकर अगले मंगलवार तक विधायकों के इस्तीफे पर कोई फैसला नहीं लेंगे। इसके अलावा स्पीकर विधायकों की अयोग्यता पर भी कोई फैसला नहीं ले पाएंगे। मामले की अगली सुनवाई मंगलवार को ही होगी। वही आज 16 कांग्रेस-जेडीएस विधायकों के इस्तीफे से संकट में आई कर्नाटक की एचडी कुमारस्वामी सरकार के लिए शनिवार को थोड़ी राहत की खबर आई है। इस्तीफा दे चुके एमटीबी नागराज के कांग्रेस में बने रहने की संभावना है।

बागी कांग्रेस विधायक एमटीबी नागराज ने कहा, 'स्थिति ऐसी थी कि हमने अपना इस्तीफा सौंप दिया, लेकिन अब डीके शिवकुमार और अन्य लोग आए और हमसे इस्तीफे वापस लेने का अनुरोध किया, मैं के सुधाकर राव से बात करूंगा और फिर देखूंगा कि क्या किया जाना है, आखिरकार मैंने दशकों कांग्रेस में बिताए हैं।' वहीं कर्नाटक के मंत्री और कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार ने कहा, 'हमें एक साथ रहना चाहिए और एक साथ मरना चाहिए क्योंकि हमने पार्टी के लिए 40 साल काम किया है, हर परिवार में उतार-चढ़ाव आते हैं। हमें सब कुछ भूलकर आगे बढ़ना चाहिए। खुशी है कि एमटीबी नागराज (बागी विधायक) ने हमें आश्वासन दिया है कि वह हमारे साथ रहेंगे।' डीके शिवकुमार शनिवार सुबह एमटीबी नागराज के आवास पर जाकर मुलाकात की और उन्हें उनके फैसले पर पुनर्विचार करने को कहा।

बता दें कि कर्नाटक की सियासत में हर दिन एक नया मोड़ आ रहा है। करीब एक सप्ताह के दौरान देखा जाय तो अबतक 16 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया है। जिसमें से 13 कांग्रेस के और 3 जेडीएस के विधायक हैं। वही स्पीकर रमेश कुमार ने अबतक किसी भी विधायक का इस्तीफा स्वीकार नहीं किया है। हालांकि जब शुक्रवार को ये मामला सुप्रीम कोर्ट में पहुंचा तो सुप्रीम कोर्ट ने स्पीकर को फैसला ना लेने के रोक लगा दी थी। सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार16 जुलाई तक स्पीकर इन विधायकों को अयोग्य नहीं ठहरा पाएंगे।

कर्नाटक की सत्ता में बने रहने के लिए 113 विधायकों का समर्थन चाहिए। वहा विधानसभा के 224 सदस्य है। बीजेपी ने 107 विधायकों के समर्थन का दावा किया है।वही कांग्रेस और जेडीएस की करें तो यहां पर कांग्रेस कुल 79 विधायक है। इसमें स्पीकर भी शामिल हैं। लेकिन अभी 13 विधायक इस्तीफा दे चुके हैं। इस्तीफा देने के बाद कांग्रेस के विधायकों की संख्या 66 हो गई है। जेडीएस के विधायकों की संख्या 37 है। इनमें से 3 विधायक इस्तीफा दे चुके हैं। इस तरह से जेडीएस के विधायकों की संख्या 34 रह गई है। एक विधायक बहुजन समाजपार्टी का है जो कांग्रेस-जेडीएस सरकार को समर्थन कर रहा है। बता दें कि स्पीकर ने अबतक किसी विधायक का इस्तीफा स्वीकार नहीं किया है। सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार16 जुलाई तक स्पीकर इन विधायकों पर कुछ फैसला नही कर सकते।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top