Top
Home > राज्य > तमिलनाडु > जानिए किस राज्य के बजट के कवर पेज पर छापी गांधी की हत्या की फोटो, मचा हंगामा, तो दी यह सफाई

जानिए किस राज्य के बजट के कवर पेज पर छापी गांधी की हत्या की फोटो, मचा हंगामा, तो दी यह सफाई

 Sujeet Kumar Gupta |  7 Feb 2020 8:25 AM GMT  |  नई दिल्ली

जानिए किस राज्य के बजट के कवर पेज पर छापी गांधी की हत्या की फोटो, मचा हंगामा, तो दी यह सफाई

तिरुवनंतपुरम। केरल के वित्तमंत्री टीएम थॉमस इसाक ने 2020-21 वित्त वर्ष के लिए माकपा नीत एलडीएफ सरकार के 5वें बजट को शुक्रवार को पेश किया। बजट की शुरुआत उन्होंने संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ टिप्पणी कर और राज्य विधानसभा द्वारा इसके खिलाफ सर्वसम्मति से पारित किए गए प्रस्ताव का जिक्र कर की।

लेकिन केरल सरकार द्वारा वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए प्रकाशित कराए गए बजट पर हंगामा खड़ा हो गया है क्योंकि इस बजट के कवर पर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की हत्या से संबंधित एक पेंटिंग को जगह दी गई है। वित्तमंत्री की बजट स्पीच के कवर पेज पर महात्मा गांधी के मर्डर सीन की तस्वीर लगाए जाने के मामले में केरल सरकार की मुसीबत बढ़ सकती है। सरकार में वित्त मंत्री थॉमस इसाक के बजट भाषण के कवर पेज पर यह विवादित तस्वीर लगी है जिसमें राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के मर्डर सीन को दिखाया गया है।

अब इस तस्वीर को लेकर वित्तमंत्री की ओर से सफाई सामने आई है। उन्होंने कहा कि 'मेरे बजट भाषण का कवर एक राजनीतिक बयान है। यह मलयालम कलाकार की पेंटिंग है जिसमें महात्मा गांधी के मर्डर सीन को दिखाया गया है। हम यह संदेश देना चाहते हैं कि महात्मा गांधी के हत्यारों को हम भूलेंगे नहीं।'

CPM नेता एमबी राजेश ने कहा, 'ऐसे में जबकि गांधी जी की हत्या का जश्न मनाया जा रहा हो, तब यह बहुत जरूरी हो जाता है.' उन्होंने कहा, 'हम एक बार फिर देश के लोगों को यह याद दिलाना चाहते हैं कि महात्मा ने हमारे लिए कितना बड़ा त्याग किया था.'

माकपा नीत एलडीएफ सरकार के इस कदम पर बीजेपी नेता टॉम वड्डक्कन ने कहा, 'कौन लोग हैं जो महात्मा गांधी की हत्या का जश्न मना रहे हैं. सरकार ने यह किस मंसूबे के तहत किया है. गांधी जी की हत्या के समय की तस्वीर छाप कर आप यह याद दिला रहे हैं कि किस तरह से इस सरकार में लोगों की हत्या की जा रही है. कवर पर महात्मा गांधी की हत्या की तस्वीर प्रकाशित कर ये लोग अपनी सरकार की नाकामयाबी और गलत कामों को छिपाना चाह रहे हैं.'

उन्होंने कहा 'यह उस वक्त बहुत महत्वपूर्ण है जब इतिहास दोबारा लिखा जा रहा है। यहां प्रसिद्ध स्मृतियों को नष्ट करने की कोशिश है और साम्प्रदायिक रेखा के आधार पर नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन्स का इस्तेमाल जनता को बांटने के लिए किया जा रहा है। केरल हमेशा यूनाइटेड रहेगा।'

उन्होंने कहा कि केरल की राज्य सरकार लोगों का ध्यान मूल मुद्दों से भटकाना चाह रही है. राज्य में हो रही राजनीतिक हत्याओं का इनके पास कोई जवाब नहीं है. ये लोग ऐसे तरीकों के जरिए जनता का ध्यान हटाना चाहते हैं. इन्हें केरल की जनता को जवाब देना ही होगा।

'बीजेपी अपना इतिहास जानती है'इसके जवाब में राजेश ने कहा कि हाल ही में कांग्रेस से बीजेपी में आए वड्डक्न को यह समझना चाहिए कि केरल सरकार को कुछ भी छिपाना नहीं है बल्कि हमारी विकास दर देश के राज्यों में सबसे ज्यादा है. इनकी सरकार चीजों को छिपा रही है. केंद्रीय बजट में भी वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने नॉमिनल जीडीपी का जिक्र किया है.

बजट के कवर पर गांधी जी के हत्या से जुड़ी तस्वीर और उसका बजट से संबंध पर राजेश ने कहा कि बीजेपी अपना इतिहास जानती है ऐसे में उन्हें यह बुरा लग रहा है।




Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it