Top
Begin typing your search...

सुप्रीम कोर्ट के सवालों पर हादिया ने दिया जवाब, बोलीं मेरा पति ही मेरा अभिभावक है

केरल में साजिश के तहत लड़कियां धर्म परिवर्तन और आतंकवाद (आईएस) के लिए भर्ती की जाती हैं। सम्मोहन के जरिए वश में किया जाता है। पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया यह सब कर रहा है। अब्दुल रशीद आईएस में भर्ती करता है।

सुप्रीम कोर्ट के सवालों पर हादिया ने दिया जवाब, बोलीं मेरा पति ही मेरा अभिभावक है
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने केरल में कथित 'लव जिहाद' की शिकार हिंदू युवती अखिला उर्फ हादिया (24) को होम्योपैथी डॉक्टर की अधूरी पढ़ाई पूरी करने तमिलनाडु के सेलम स्थित भेजने का आदेश दे दिया। वह कोर्ट से लगातार पति के साथ जाने और हॉस्टल में पति को लोकल गार्जियन (स्थानीय अभिभावक) बनाने की जिद करती रही, लेकिन कोर्ट ने साफ कहा, 'पत्नी कोई जायदाद नहीं है, पति उसका अभिभावक नहीं बन सकता।'

पिछली सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने हादिया के पिता अशोकन केएम को 27 नवंबर को उसे कोर्ट में लाने का निर्देश दिया था। सोमवार को वह कोर्ट पहुंची, तो करीब 25 मिनट तक उससे प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा, जस्टिस एएम खानविलकर व जस्टिस डीवाई चंद्रचूड ने उसके जीवन, महत्वाकांक्षा, पढ़ाई व शौक को लेकर सवाल किए।
कुछ इस तरह जवाब-सवाल हुए
कोर्ट : आपने कौन सी पढ़ाई की है?
हादिया : होम्योपथी डॉक्टर की पढ़ाई की है।
कोर्ट : आपने डॉक्टरी की पढ़ाई कैसे चुनी?
हादिया : पिता के कहने पर।
कोर्ट : कोई इंटर्नशिप करनी है या कर चुकी हो?
हादिया : हां, इंटर्नशिप करना चाहती हूं।
कोर्ट : पढ़ाई के अलावा और क्या शौक हैं?
हादिया : सिर्फ पढ़ाई या फिर कंप्यूटर पर फिल्म देखती हूं।
कोर्ट : घर में आप सबसे ज्यादा किसके नजदीक हैं?
हादिया : पिता के करीब हूं।
कोर्ट : भविष्य में किस तरह से सपने हैं?
हादिया : मैं आजादी चाहती हूं।
कोर्ट : मान-सम्मान से जिंदगी जीने के बारे में क्या सोचा है?
हादिया : मैं इंटर्नशिप यानी हाउससर्जनशिप करना चाहती हूं। कोर्स के बाद यह जरूरी है।
कोर्ट : जिंदगी कैसे जीना चाहती हो?
हादिया : मैं अपने विश्वास के हिसाब से जीना चाहती हूं।
कोर्ट : क्या राज्य सरकार के खर्चे पर पढ़ना चाहोगी?
हादिया : मैं अपने पति के खर्चे पर पढ़ना चाहती हूं, सरकार के नहीं।
कोर्ट : क्या हॉस्टल जाकर इंटर्नशिप करोगी?
हादिया : हां, मै चाहती हूं कि सलेम जाऊं।
कोर्ट : वहां स्थानीय गार्जियन किसको बनाना चाहती हो?
हादिया : मेरा पति ही मेरा गार्जियन बने। मैं उसी के साथ रहना चाहती हूं।
कोर्ट : यहां पति गार्जियन नहीं होगा, बल्कि तुम खुद आत्मनिर्भर होगी।
हादिया : जी, मैं अपने विश्वास पर अच्छी नागरिक बनूंगी।
हादिया के पिता- केरल में साजिश के तहत लड़कियां धर्म परिवर्तन और आतंकवाद (आईएस) के लिए भर्ती की जाती हैं। सम्मोहन के जरिए वश में किया जाता है। पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया यह सब कर रहा है। अब्दुल रशीद आईएस में भर्ती करता है। वह अभी भारत में नहीं है। एनआईए ने मानसी बूरा को गिरफ्तार किया है, जिससे वेबसाइट पर शफीन जहां की बात हुई है। शफीन जहां ने उससे पूछा है कि अगर वह भर्ती करेगा तो उसे कितने पैसे मिलेंगे? मानसी ने कहा कि रुपये नहीं डॉलर मिलेंगे। कोर्ट इन सारे पहलुओं पर विचार करे।
एनआईए- यह अकेला ऐसा मामला नहीं है। केरल पुलिस ने ऐसे 11 मामले दिए हैं। जांच में साबित हुआ है कि यह कितना गंभीर मामला है। इस मामले में शादी पहले हुई और वेबसाइट पर शादी का ब्योरा बाद में डाला गया। ये सारा खेल प्रोग्रामिंग के नाम से चलता है। सत्य शालिनी संस्था धर्मपरिवर्तन कराती है। सम्मोहन होता है। ब्रेन वॉश किया जाता है। हमने कोर्ट में रिपोर्ट दाखिल की है। कोर्ट कोई भी फैसला लेने से पहले उस रिपोर्ट को जरूर देखे।
हादिया का पति- यहां मुद्दा धर्म परिवर्तन और शादी का नहीं है। एक बालिग व्यक्ति की इच्छा और आजादी से जुड़ा है। कोर्ट को सबसे पहले हादिया से बात करके पता करना चाहिए कि वह स्वस्थ मानसिक स्थिति में है कि नहीं। जब तक बहुत बाध्यकारी परिस्थितियां न हों कोर्ट को अन्य पहलुओं पर विचार नहीं करना चाहिए।
कॉलेज के डीन- अभिभावक कोर्ट ने आदेश दिया कि केरल सरकार उसे सुरक्षा प्रदान करे। उसे जल्द से जल्द तमिलनाडु के सलेम स्थित शिवराज होम्यापैथिक कॉलेज भेजें। कॉलेज के डीन उसके स्थानीय अभिभावक रहेंगे। उसे कॉलेज के हॉस्टल में रहने और नियमानुसार किसी से भी मिलने-जुलने दिया जाए।

आनंद शुक्ल
Next Story
Share it