Top
Home > तकनीकी > वर्ल्ड वाइड वेब के संस्थापक का फर्जी खबरों को लेकर आया बड़ा बयान

वर्ल्ड वाइड वेब के संस्थापक का फर्जी खबरों को लेकर आया बड़ा बयान

30 साल पहले वर्ल्ड वाइड वेब की शुरुआत हुई थी।

 Sujeet Kumar Gupta |  5 Sep 2019 9:24 AM GMT  |  नई दिल्ली

वर्ल्ड वाइड वेब के संस्थापक का फर्जी खबरों को लेकर आया बड़ा बयान
x

हमारे जीवन में इंटरनेट एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. आजकल थोड़ी-सी जानकारी के लिए भी हम इंटरनेट पर निर्भर रहते हैं जैसे कि रिसर्च करना, अपने धन का प्रबंधन करना, देश भर में प्रियजनों के साथ संपर्क रखना इत्यादि. देखा जाए तो व्यापार की दुनिया भी ज्यादातर इंटरनेट पर निर्भर है, वित्तीय लेनदेन सेकंड में नियंत्रित किए जाते हैं और संचार भी तात्कालिक इन्टरनेट के माध्यम से हो जाता है। वर्ल्ड वाइड वेब इंटरनेट का सबसे महत्वपूर्ण उपकरण है क्योंकि इसके बिना एक-दूसरे से जुड़ना बहुत मुश्किल है।

वर्ल्ड वाइड वेब (डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू) के संस्थापक सर टिम बर्नर्स ली ने इंटरनेट पर फर्जी खबरों के प्रवाह को कम करने की वकालत की। उन्होंने कहा कि डेटा को लेकर खुलेपन की नीति के ऊपर भारत में अभी बहुत काम करने की जरूरत है। उन्होंने टेकलॉ फेस्ट 2019 में कहा कि वर्ल्ड वाइड फाउंडेशन सरकारों, उद्योग जगत तथा जनता की मदद से भविष्य में लोगों के लिये वेब को बेहतर बनाने की कोशिश कर रहा है। उन्होंने फर्जी खबरों का प्रवाह कम करने की भी वकालत की।

कानून की आवश्यकता के बारे में उन्होंने कहा कि इंटरनेट के हर स्तर के लिये अलग कानून की जरूरत है। उन्होंने कहा, ''लोगों को भ्रमित करने के खिलाफ कठोर कानून होना अच्छा है।'' ली ने भारत के बारे में कहा कि देश को डेटा को लेकर खुली नीति अपनाने की दिशा में अभी बहुत काम करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि भारत में हर किसी को ऑनलाइन होने में चुनौती का सामना करना पड़ रहा है। ली ने 30 साल पहले वर्ल्ड वाइड वेब की शुरुआत की थी।

वर्ल्ड वाइड वेब क्या है?

यह हाइपरटेक्स्ट मार्क-अप भाषा या HTML का उपयोग करके हाइपरमीडिया को संदर्भित करता है. इसे WWW, W3 या web के नाम से भी जाना जाता है. यह इन्टरनेट पर सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाली सर्विस है. इसके जरिये कई सारे वेब servers और क्लाइंट्स एक साथ जुड़ते है. ये हम सब जानते हैं कि वेब सर्वर के HTML डाक्यूमेंट्स में images, videos और अलग-अलग प्रकार के ऑनलाइन कंटेंट्स स्टोर रहते हैं जिन्हें वेब की मदद से एक्सेस किया जा सकता है. यहीं आपको बता दें कि हाइपरटेक्स्ट डॉक्यूमेंट में कोई भी शब्द एक पॉइंटर के रूप में एक अलग हाइपरटेक्स्ट डॉक्यूमेंट में निर्दिष्ट किया जा सकता है जहाँ उस शब्द से संबंधित अधिक जानकारी मिल सकती है.

WWW एक प्रकार का इनफार्मेशन स्पेस है जहां पर डाक्यूमेंट्स और अन्य संसाधनों की पहचान यूनिफ़ॉर्म रिसोर्स लोकेटर यूआरएल जैसे https://www.example.com द्वारा की जाती है जो हाइपरटेक्स्ट द्वारा इंटरलिंक हो सकते हैं और इंटरनेट के माध्यम से एक्सेस किए जा सकते हैं. WWW संसाधनों को वेब ब्राउज़र के रूप में जाना जाने वाले सॉफ़्टवेयर एप्लिकेशन के माध्यम से उपयोगकर्ताओं द्वारा एक्सेस किया जाता है।


Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it