Top
Begin typing your search...

हैदराबाद में गिरफ्तारी के बाद चंद्रशेखर आजाद ने तेलंगाना पुलिस पर लगाया बड़ा आरोप

हैदराबाद में गिरफ्तारी के बाद चंद्रशेखर आजाद ने तेलंगाना पुलिस पर लगाया बड़ा आरोप
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

सीएए और एनआरसी को लेकर इसके खिलाफ देश के अंदर कोहराम मचा है तो भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आज़ाद इसके खिलाफ प्रदर्शन की योजना से पहले ही तेलंगाना पुलिस ने उन्हें रविवार को गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद आज यानी सोमवार को उन्हें दिल्ली भेजा जा रहा है।

चंद्रशेखर ने तेलंगाना पुलिस और सरकार पर तानाशाही रवैया अपनाने का आरोप लगाया है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, 'तेलंगाना में तानाशाही चरम पर है। लोगों के विरोध प्रदर्शन करने के अधिकार को छीना जा रहा है। पहले हमारे लोगों को लाठियां मारी गईं। फिर मुझे गिरफ्तार कर लिया गया। अब मुझे एयरपोर्ट ले आए और दिल्ली भेज रहे हैं। तेलंगाना के मुख्यमंत्री याद रखें, बहुजन समाज इस अपमान को कभी नहीं भूलेगा। जल्द वापस आऊंगा।'

रविवार को लंगर हाउस पुलिस के द्वारा दिए गए बयान अनुसार, स्थानीय प्रशासन ने चंद्रशेखर आज़ाद को प्रदर्शन की अनुमति नहीं दी थी। इसके बावजूद वह अपने समर्थकों के साथ मेहतिपट्नम में सीएए के खिलाफ एक रैली को संबोधित करने जा रहे थे। दिल्ली के तिहाड़ जेल से सशर्त जमानत मिलने के बाद चंद्रशेखर को अब तेलंगाना पुलिस ने हिरासत में लिया है। उन्हें पिछले महीने सीएए के खिलाफ एक रैली में भीड़ को उकसाने के आरोपों के चलते गिरफ्तार किया गया था।

नागरिकता संशोधन कानून पर प्रदर्शन के दौरान गिरफ्तार किए गए भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर रावण को कुछ दिनों पहले ही दिल्ली की अदालत ने सशर्त जमानत दी है। अदालत ने चंद्रशेखर को निर्देश दिए हैं कि वे 16 फरवरी तक दिल्ली में कोई भी प्रदर्शन न करें। चंद्रशेखर को 21 दिसंबर को गिरफ्तार किया गया था। पुलिस ने आरोप लगाए थे कि उन्होंने भड़काऊ भाषण दिए, जिसके बाद दरियागंज में प्रदर्शन के दौरान हिंसा भड़की। भीम आर्मी चीफ 20 दिसंबर को जामा मस्जिद में हुए प्रदर्शन में भी शामिल हुए थे।

Next Story
Share it