Top
Home > राज्य > तेलंगाना > हैदराबाद > हैदराबाद एनकाउंटर पर बोले पीड़िता के पिता, अब मेरी बच्ची की आत्मा को शांति मिलेगी

हैदराबाद एनकाउंटर पर बोले पीड़िता के पिता, अब मेरी बच्ची की आत्मा को शांति मिलेगी

हैदराबाद में जानवरों की डॉक्टर के साथ रेप और फिर निर्मम हत्या के आरोपियों को शुक्रवार सुबह पुलिस ने ढेर कर दिया है।

 Special Coverage News |  6 Dec 2019 6:52 AM GMT  |  दिल्ली

हैदराबाद एनकाउंटर पर बोले पीड़िता के पिता, अब मेरी बच्ची की आत्मा को शांति मिलेगी
x

हैदराबाद में महिला डॉक्टर के साथ रेप और फिर निर्मम हत्या के चारों आरोपियों शुक्रवार सुबह पुलिस एनकाउंटर में मारे गए। इस कार्रवाई पर पीड़िता के पिता ने सरकार को बधाई देते हुए कहा है कि उनकी बेटी की आत्मा को शांति मिलेगी। पुलिस का कहना है कि वह आरोपियों को सीन रीकंस्ट्रक्ट करने के लिए मौका-ए-वारदात पर ले गई थी। पुलिस सूत्रों के मुताबिक इस दौरान वह हथियार लेकर भागने की कोशिश कर रहे थे और पुलिस पर फायरिंग भी की। इस पर पुलिस ने जवाबी कार्रवाई की, जिसमें चारों आरोपी मारे गए।

पुलिस एनकाउंटर पर खुशी जताते हुए हैदराबाद गैंरेप विक्टिम की बहन ने कहा, 'आरोपियों का एनकाउंटर हुआ है। मैं यह सुनकर बहुत खुश हूं। यह एक उदाहरण है। रेकॉर्ड टाइम में इंसाफ मिला गया है। मैं उन लोगों के लिए शुक्रगुजार हूं, जो इस मुश्किल घड़ी में हमारे साथ खड़े रहे।' वहीं दरिंदगी का शिकार हुईं वेटनरी डॉक्टर के पिता ने कहा, 'मेरी बच्ची को मरे 10 दिन हो गए। मेरी बच्ची की आत्मा को अब शांति मिलेगी। मैं तेलंगाना सरकार को बधाई देता हूं।'

इसके अलावा 16 दिसंबर, 2012 को गैंगरेप और हत्या का शिकार हुई निर्भया की मां ने भी इस एनकाउंटर को सही ठहराया। उन्होंने कहा कि इस घटना से आक्रोश था और इससे पीड़िता के परिजनों को न्याय मिला है।

बता दें कि हैवानियत भरी इस घटना के सामने आने के बाद से ही देशभर में आक्रोश था। आरोपियों को फांसी दिए जाने की मांग की जा रही थी। यहां तक कि एक आरोपी की मां ने चारों को उसी तरह जिंदा जलाने तक को कह दिया था, जैसे पीड़िता के साथ किया गया था।

आरोपी की मां ने कहा था- 'जला दो'

बता दें कि 27 नवंबर की रात को 'दिशा' के साथ हुई इस घटना से हैदरबाद समेत देश के दूसरे हिस्सों में भी उबाल थी। 2012 की दिल्ली गैंगरेप घटना की याद दिलाने वाले इस रेप-हत्याकांड के आरोपियों को फांसी पर लटकाने की मांग की जा रही थी। पीड़िता के परिजन तो मौत की सजा की मांग कर ही रहे थे, एक आरोपी केशवुलू की मां ने भी कहा था कि जैसा आरोपियों ने पीड़िता के साथ किया, उन्हें भी वैसे ही जला दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा था, 'मेरी भी एक बेटी है। मुझे पीड़िता के परिवार का दर्द पता है।'

पिता ने की थी जल्द सजा की मांग

बाकी आरोपियों के परिजनों ने भी कानून का पालन कर सख्त सजा की मांग की थी। पीड़िता के पिता ने भी मंगलवार को कहा था, 'दोषियों को जितना जल्दी संभव हो उतना जल्दी सजा देनी चाहिए। कई कानून बनाए गए लेकिन उनका पालन नहीं हो रहा है। निर्भया केस को ही देख लीजिए। दोषियों को फांसी पर लटकाना चाहिए।'

तेलंगाना सरकार की तारीफ

एनकाउंटर के बाद पिता ने तेलंगाना सरकार को बधाई देते हुए कहा, 'मेरी बच्ची को मरे 10 दिन हो गए। मेरी बच्ची की आत्मा को अब शांति मिलेगी। मैं तेलंगाना सरकार को बधाई देता हूं।' पीड़िता की बहन ने भी खुशी जताई है और इसे एक उदाहरण बताया है।

'पूरे देश में खुशी'

एनकाउंटर के बाद तेलंगाना के कानून मंत्री इंद्रकरण रेड्डी ने कहा है कि कानूनी प्रक्रिया से पहले ही भगवान ने आरोपियों को सजा दे दी। उन्होंने कहा, 'आरोपियों ने भागने की कोशिश की थी तो मार गिराया गया। इससे हैदराबाद समेत पूरे देश में खुशी है।' बता दें कि इससे पहले मुख्‍यमंत्री के चंद्रशेखर राव के बेटे और मंत्री केटी रामा राव ने कहा था कि वह भी देश के अन्य लोगों की तरह चाहते हैं कि चारों आरोपियों को मौत की सजा मिले, लेकिन दुर्भाग्य से सरकार में रहते हुए वह ऐसा नहीं कर सकते। वह आरोपियों को जनता के सामने फांसी देने या गोली मारने को नहीं कह सकते क्योंकि व्यवस्था और तंत्र इस प्रकार काम नहीं करता।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it