Top
Home > राज्य > तेलंगाना > हैदराबाद > लोकसभा संग्राम 30–तेलंगाना चुनाव में भारी भीड़ ले रहे विश्व पटल पर अपनी पहचान बना चुके शायर इमरान प्रतापगढ़ी

लोकसभा संग्राम 30–तेलंगाना चुनाव में भारी भीड़ ले रहे विश्व पटल पर अपनी पहचान बना चुके शायर इमरान प्रतापगढ़ी

 Special Coverage News |  5 Dec 2018 10:42 AM GMT  |  हैदराबाद

लोकसभा संग्राम 30–तेलंगाना चुनाव में भारी भीड़ ले रहे विश्व पटल पर अपनी पहचान बना चुके शायर इमरान प्रतापगढ़ी
x

हैदराबाद से तौसीफ़ क़ुरैशी

हैदराबाद। हमारे देश की सियासत में जगह बनाना आमतौर पर बहुत कठिन माना जाता है और वो भी आजकल की सियासत बाप रे बाप जहाँ से सच कोसो दूर हो,सब झूट की इमारत पर चल रहा हो लेकिन इसे आसान किया है इंक़लाबी शायरी के ज़रिए अपनी पहचान बना चुके अतंर्राष्ट्रीय शायर इमरान प्रतापगढ़ी ने सियासत में भी अपने ज़िन्दा होने के सबूत दिए है कहते है अगर इरादे नेक हो तो मंज़िल तक पहुँचने में देर नही लगती यही बात इमरान प्रतापगढ़ी पर सटीक बैठ रही है। तेलंगाना के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस पार्टी के लिए प्रचार में जुटे इमरान प्रतापगढ़ी की चुनावी सभाओं में भारी भीड़ उमड़ रही है और इमरान प्रतापगढ़ी कांग्रेस पार्टी के लिए संजीवनी बूटी साबित हो रहे है वैसे तो तेलंगाना में असदउद्दीन ओवैसी का जादू चलता है लेकिन उसी जादू के बीच में अपनी पहचान बनाने में कामयाब हो रहे इमरान प्रतापगढ़ी भी अपने जादू से कांग्रेस की मदद कर रहे है जो काम उसके स्टार प्रचारक भी नही कर पा रहे और इमरान स्टार प्रचारक साबित हो रहे है। इमरान की शायरी का जादू दर्शकों के सर चढ़कर बोलता है उनके कलाम को लोग गुनगुनाते रहते है साथ ही देश हित के मामलों में भी अपनी आमद कराते रहते है यह बात किसी से छिपी नही है।शायर इमरान प्रतापगढ़ी की चुनावी सभाओं में आ रही भारी भीड़ इसकी दलील है।




शायरी के साथ सियासत में भी क़िस्मत आज़माने की तैयारी कर रहे इमरान प्रतापगढ़ी इस समय तेलंगाना में चल रहे चुनावी प्रचार में व्यस्त है अब तक उन्होंने कांग्रेस के प्रत्याशियों के लिए 12 चुनावी सभा की है उनको सुनने और देखने आने वालों की भारी भीड़ से कांग्रेस को और उसके प्रत्याशियों को काफ़ी फ़ायदा मिल रहा है जिसकी वजह से इमरान की माँग बढ़ रही है अधिकांश प्रत्याशी ये चाहते है कि इमरान का कार्यक्रम मेरी विधानसभा में भी लग जाए आज चुनाव प्रचार का अंतिम दिन था इमरान भी ज़्यादा से ज़्यादा सभाएँ कर कांग्रेस को तेलंगाना में सत्ता तक पहुँचाने के लिए मार्ग बनाने का प्रयास कर रहे है असल में कांग्रेस तेलंगाना में केसीआर को सबक़ सिखाना चाहती है। राज्य का गठन होने से पहले के. चन्द्रशेखर राव ने कांग्रेस के दिग्विजय सिंह से यह वादा किया था कि राज्य का गठन हो जाने के बाद वह अपनी पार्टी का कांग्रेस में विलय कर लेंगे पर राज्य का गठन होने के बाद के. चन्द्रशेखर राव अपने वायदे से मुकर गए इसी लिए कांग्रेस वहाँ किसी भी सूरत में कांग्रेस सत्ता हासिल करना चाहती है इसी लिए उसने वहाँ पूर्व क्रिकेटर मौ. अजरूद्दीन को वहाँ का कार्यकारी अध्यक्ष बनाया है वहाँ पर मुस्लिम वोटर निर्णायक भूमिका में है इसी लिए शायर इमरान प्रतापगढ़ी को भी लगाया गया है और इमरान वहाँ कारगर भी साबित हो रहे है।




हालाँकि यहाँ यह भी बताना ज़रूरी है कि इमरान प्रतापगढ़ी कांग्रेसी नही है उन्होंने अभी किसी पार्टी की सदस्यता नही ली है लेकिन सूत्रों के हवाले से जानकारी मिली है कि इमरान की लोकप्रियता से राहुल गांधी ख़ासा प्रभावित है और वह पाँच राज्यों के चुनावी नतीजों के बाद इमरान को बुलाकर कांग्रेस में शामिल होने के लिए कह सकते है अगर इमरान प्रतापगढ़ी राहुल के प्रस्ताव पर कांग्रेस में शामिल होते है तो यह कांग्रेस के लिए फ़ायदे का सौदा होगा क्योंकि उत्तर भारत के साथ इमरान प्रतापगढी का दक्षिण भारत में भी ख़ासा असर है इससे इंकार नही किया जा सकता है वैसे एक बात और हमने ही यह समाचार पहले दिया था कि शायर इमरान प्रतापगढ़ी मुरादाबाद लोकसभा सीट से कांग्रेस के प्रत्याशी होगे यह भी लगभग फ़ाइनल है।ऐसी ख़बरें सियासी गलियारो में बहुत पहले से तैर रही है अब यह ख़बरें आना कि तेलंगाना में कांग्रेस के लिए प्रचार कर रहे है शायर इमरान प्रतापगढ़ी और उनके प्रचार से कांग्रेस के प्रत्याशियों को लाभ भी मिल रहा है ख़ैर यह तो आने वाला समय ही बताएँगा कि वहाँ इमरान की मौजूदगी का कितना लाभ मिला है चुनाव के परिणाम भी गवाही देंगे फिलहाल प्रचार में तो मिल ही रहा है जहाँ ओवैसी जैसा नेता हो वहाँ भारी भीड़ लेना अपने आप में ही एक अजूबा है।

Tags:    
Next Story
Share it