Top
Begin typing your search...

गला काटकर सिर लेकर थाने पहुंचे दो भाई, ये था पूरा मामला

गला काटकर सिर लेकर थाने पहुंचे दो भाई, ये था पूरा मामला
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

तेलंगाना में एक चौंका देने वाला मामला सामने आया है. दो लड़कों ने बहन का बदला लेने के लिए एक शख़्स का गला धड़ से अलग कर दिया. और तो और कटा सिर लेकर पुलिस थाने पहुंच गए. तेलंगाना के नालगोंडा जिला के नामपल्ली मंडल में ये वारदात हुई है. दी न्यूज़ मिनट के मुताबिक, ये घटना शनिवार शाम की है. हत्या के आरोपियों – मोहम्मद इरफान और मोहम्मद गौस ने नारियल काटने के लिए रखे चापड़ से गला काट दिया. दोनों आरोपियों की उम्र 22 साल है.

पूरा मामला

इरफान और गौस, 28 साल के ऑटो रिक्शा ड्राइवर शेख सद्दाम से बदला लेना चाहते थे. दरअसल इरफान और गौस की एक चचेरी बहन थी, रज़िया. वो विधवा थीं. उनके सद्दाम के साथ संबंध थे. 2017 में वो और सद्दाम साथ रहने लगे. सद्दाम रज़िया और रज़िया की पहली शादी से हुए दो बच्चों की देखभाल करने का बोलकर उन्हें हैदराबाद ले गया. रज़िया को हैदराबाद के सरूरनगर में किसी घर में घरेलू काम पर लगवा दिया. बाद में राज़िया की मौत संदिग्ध हालात में हो गई थी. इरफान और गौस अपनी बहन की हत्या का आरोपी सद्दाम को मानते थे. उनका कहना था कि सद्दाम को रज़िया के दोनों बच्चों की देखभाल करनी चाहिए. यही बात फिर से कहने के लिए इरफान और गौस सद्दाम के पास पहुंचे थे. लेकिन बातचीत इतनी आगे बढ़ गई कि गौस ने नारियल पानी वाले की रेहड़ी से चापड़ उठाया और सद्दाम का धड़ अलग कर दिया.

गौस और इरफान अपना गुनाह जानते थे. इसलिए सरेंडर करने थाने पहुंच गए. लेकिन कटा हुआ सिर साथ लेकर. नालगोंडा के ASP ने इस बात की तस्दीक की है. पुलिस ने दोनों को पकड़ लिया है मामले की तफ्तीश जारी है.

Special Coverage News
Next Story
Share it