Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > आगरा > यूपी : पुलिस हिरासत में मौत मामले में पूरे थाने पर गिरी गाज, थाना प्रभारी समेत 3 निलंबित

यूपी : पुलिस हिरासत में मौत मामले में पूरे थाने पर गिरी गाज, थाना प्रभारी समेत 3 निलंबित

सभी पुलिसकर्मियों को पिछले दिनों पुलिस हिरासत में राजू गुप्ता नाम के युवक की मौत के मामले में किया गया है।

 Special Coverage News |  24 Nov 2018 5:28 AM GMT  |  दिल्ली

यूपी : पुलिस हिरासत में मौत मामले में पूरे थाने पर गिरी गाज, थाना प्रभारी समेत 3 निलंबित

आगरा : उत्तर प्रदेश के आगरा के एक थाने में तैनात सभी पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है। आगरा के सिकंदरा थाने में तैनात सभी पुलिसकर्मियों को पिछले दिनों पुलिस हिरासत में राजू गुप्ता नाम के युवक की मौत के मामले में किया गया है। मामला मीडिया में आने के बाद वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने कार्रवाई करते हुए सिकंदरा थाने में तैनात दरोगा, सिपाहियों और होमगार्ड के जवान को निलंबित कर दिया है। प्रभारी निरीक्षक ऋषिपाल सिंह, दरोगा अनुज सिरोही और दरोगा तेजवीर सिंह को निलंबित किया गया है। थाना सिकंदरा के शस्त्रागार से गायब हुए एके-47 के कारतूस और तीन रिवाल्वर के मामले में सिपाही रणजीत सिंह, सिपाही राम किशन सिंह के साथ होमगार्ड महेश चंद को निलंबित किया गया है।

बताया जा रहा है कि नरेन्द्र एनक्लेव, गैलाना रोड निवासी अंशुल गुप्ता ने पड़ोसी 30 वर्षीय राजू गुप्ता पुत्र ओम प्रकाश गुप्ता पर गहने चोरी करने का आरोप लगाया था। उसकी मां रेनू लता को भी थाने लाया गया। पूरे दिन थाने में रखा। रेनू लता का आरोप है कि उसके सामने ही बेटे की कपड़े उतार कर पिटाई की गई। राजू गुप्ता की मौत के बाद मां रेनू की तहरीर पर अंशुल, विवेक और अज्ञात पुलिस वालों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई है।

पड़ोसियों का कहना है कि राजू को जिस गाड़ी से उठाकर ले जाया गया, उस पर विधायक लिखा हुआ था। मथुरा से आए राजू के चाचा अशोक का कहना है कि उन्हें यह जानकारी पड़ोसियों ने दी है। इस बात की जांच हो कि गाड़ी किस विधायक की है। थाने में सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं। उससे भी पता चल सकता है कि गाड़ी का नम्बर क्या है और पूरी जानकारी हो सकती है। उन्होंने सीबीआई जांच की मांग की है। पुलिस पर भऱोस नहीं रहा है।

राजू का पोस्टमार्टम चिकित्सकों की टीम ने किया। इसमें पाया गया है कि मौत का कारण हृदयाघात है। शरीर पर चोट के निशान नहीं हैं। पोस्टमार्टम की वीडियोग्राफी भी कराई गई है। राजू की मां का कहना है कि जब उसके सामने बेटे की पिटाई की गई है, तो चोट के निशान क्यों नहीं हैं? पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पहले अपर नगर मजिस्ट्रेट ने कहा था कि राजू की मौत बीमारी से हुई है।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top