Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > आगरा > यूपी: आगरा में कोरोना को लेकर प्रियंका गांधी के ट्वीट से मचा बवाल, डीएम ने भेजा नोटिस

यूपी: आगरा में कोरोना को लेकर प्रियंका गांधी के ट्वीट से मचा बवाल, डीएम ने भेजा नोटिस

प्रियंका गांधी के ट्वीट पर आगरा के जिलाधिकार ने नोटिस भेजा है

 Arun Mishra |  23 Jun 2020 10:13 AM GMT

यूपी: आगरा में कोरोना को लेकर प्रियंका गांधी के ट्वीट से मचा बवाल, डीएम ने भेजा नोटिस
x

आगरा : कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के ट्वीट पर बवाल मच गया है. आगरा में कोरोना संक्रमण से हुई मौतों को लेकर उनके ट्वीट पर प्रदेश सरकार में हड़कंप मच गया. यही नहीं आगरा के जिलाधिकारी ने इस ट्वीट को भ्रामक बताकर उन्हों नोटिस तक भेज दिया है. कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने एक अखबार में छपी खबर के हवाले से कहा कि आगरा में बीते 48 घंटे में 28 मौतें हो चुकी हैं. यही नहीं उन्होंने आगरा के रोल मॉडल होने पर भी तंज कसा.

इस ट्वीट पर राज्य सरकार के स्तर पर सनसनी फैल गई. इस बीच सोमवार को आगरा के डीएम ने मोर्चा संभालते हुये लिखा कि मार्च से लेकर अब तक आगरा में 79 मौत कोरोना से हुई हैं. अखबार में प्रकाशित खबर असत्‍य है. मामला यहां नहीं थमा. प्रियंका का ट्वीट सुर्खियों में आते ही अखबारों में छा गया. मंगलवार सुबह डीएम आगरा ने प्रियंका गांधी को नोटिस जारी कर दिया है. नोटिस में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा से ट्वीट के जरिये पोस्ट की गई खबर का खंडन करने को कहा गया. डीएम ने लिखा है कि कोरोना से जूझ रही टीम का मनोबल गिराने की कोशिश की गई है.

प्रियंका गांधी का ये था ट्वीट

कांग्रेस महासचिव ने ट्वीट करते हुये लिखा था कि 'आगरा में 48 घंटे में भर्ती हुए 28 कोरोना मरीजों की मृत्यु हो गई. यूपी सरकार के लिए कितनी शर्म की बात है कि इसी मॉडल का झूठा प्रचार करके सच दबाने की कोशिश की गई''। सरकार की नो टेस्ट=नो कोरोना पॉलिसी पर सवाल उठे थे लेकिन सरकार ने उसका कोई जवाब नहीं दिया..''



आज भी प्रियंका ने किया ट्वीट

प्रियंका गांधी यही नहीं रुकीं. उन्होंने आज भी आगरा के संबंध में ट्वीट किया. उन्होंने लिखा कि 'आगरा में कोरोना से मृत्युदर दिल्ली व मुंबई से भी अधिक है। यहाँ कोरोना से मरीजों की मृत्यदर 6.8% है। यहाँ कोरोना से जान गंवाने वाले 79 मरीजों में से कुल 35% यानि 28 लोगों की मौत अस्पताल में भर्ती होने के 48 घण्टे के अंदर हुई है''।

'आगरा मॉडल' का झूठ फैलाकर इन विषम परिस्थितियों में धकेलने के जिम्मेदार कौन हैं? मुख्यमंत्री जी 48 घंटे के भीतर जनता को इसका स्पष्टीकरण दें और कोविड मरीजों की स्थिति और संख्या में की जा रही हेराफेरी पर जवाबदेही बनाएँ''।

आगरा में कोरोना से मृत्युदर दिल्ली व मुंबई से भी अधिक है। यहाँ कोरोना से मरीजों की मृत्यदर 6.8% है। यहाँ कोरोना से जान गंवाने वाले 79 मरीजों में से कुल 35% यानि 28 लोगों की मौत अस्पताल में भर्ती होने के 48 घण्टे के अंदर हुई है।



आगरा के डीएम ने भेजा नोटिस

प्रियंका गांधी के ट्वीट पर आगरा के जिलाधिकार ने नोटिस भेजा है. नोटिस में लिखा है कि पोस्ट से भ्रम की स्थिति उत्पन्न हुई है, जिससे जनमानस में यह संदेश जाता है कि 48 घंटे में 28 कोरोना पॉजीटिव मरीजों की मृत्यु हुई है. इस समय संपूर्ण भारतवासी कोविड-19 के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लड़ रहे हैं, जो कोरोना वारियर्स/कोरोना फाइटर्स एवं जनसामान्य पर प्रतिकूल प्रभाव एवं भ्रम का वातावरण उत्पन्न करता है. जबकि सच्चाई यह है कि पिछले 109 दिनों में आगरा में कोविड-19 के अब तक कुल 1139 केस आये हैं और 79 कोविड-19 पॉजीटिव मरीजों की मृत्यु हुई है. पिछले 48 घंटे में 28 लोगों की मृत्यु की सूचना असत्य एवं निराधार है. डीएम ने उन्हें 24 घंटे के अंदर भ्रामक/असत्य खबर का खंडन सुनिश्चित करने को कहा है, ताकि इस कोविड-19 के संक्रमण के समय में समस्त नागरिकों एवं किसी भी पद पर कार्यरत कर्मी को सही स्थिति की जानकारी मिल सके एवं इस महामारी में लगे हुए कार्मिकों के मनोबल को ठेस न पहुंचे. डीएम प्रभु एन. सिंह ने बताया कि भ्रामक व असत्य जानकारी वाले ट्वीट से भ्रम की स्थिति पैदा हुई है. इसलिए कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव को नोटिस दिया गया है.


Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Arun Mishra

Arun Mishra

Arun Mishra


Next Story
Share it