Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > आगरा > लॉकडाउन में सीएम योगी की सख्ती, स्पेशल टीम ऐक्टिव तब कोरोना से कुछ यूं उबर रहा आगरा

लॉकडाउन में सीएम योगी की सख्ती, स्पेशल टीम ऐक्टिव तब कोरोना से कुछ यूं उबर रहा आगरा

कोरोना से बुरी तरह जूझ रहे आगरा में सीएम योगी की स्पेशल टीम के पहुंचने, लॉकडाउन में सख्ती बढ़ाने और तमाम उपायों के बाद अब जिले में कोरोना के मामले में कमी आई है। साथ ही जिले में कोरोना के मरीज तेजी से रिकवरी भी कर रहे हैं।

 Shiv Kumar Mishra |  15 May 2020 3:55 PM GMT  |  दिल्ली

लॉकडाउन में सीएम योगी की सख्ती, स्पेशल टीम ऐक्टिव तब कोरोना से कुछ यूं उबर रहा आगरा
x

उत्तर प्रदेश के आगरा में कोरोना के मामले काफी तेजी से बढ़ रहे थे। हालांकि, अब मई के दूसरे और तीसरे हफ्ते में नए केस की संख्या में कमी आई है। साथ ही कोरोना से ठीक हो रहे मरीजों की संख्या भी बढ़ गई। अभी तक जिले में कुल 789 मरीज सामने आए हैं, जिसमें से 389 मरीज ठीक भी हो चुके हैं। 14 मई को अब तक सबसे कम सिर्फ चार ही नए मामले सामने आए। जिले में अभी 44 ऐक्टिव हॉटस्पॉट क्षेत्र हैं। हॉटस्पॉट इलाकों में पुलिस की भी तैनाती की गई है। लॉकडाउन में सख्ती और बढ़ा दी गई है और जरूरी काम के लिए भी पूरी तरह सुनिश्चित होने के बाद ही परमिशन दी जा रही है। लगातार मामले बढ़ने के कारण सीएम योगी की ओर से भेजी गई स्पेशल टीम भी लगातार ऐक्टिव है और नियमों को सख्ती से लागू करवाने के साथ व्यवस्था में सुधार कर रही है।

​स्पेशल टीम पहुंची आगरा

आगरा में कोरोना के बढ़ते संक्रमण पर चिंतित यूपी सरकार जिले में वरिष्ठ प्रशासनिक और पुलिस अफसरों को भेज कर सीधी मॉनिटरिंग कर रही है। रिपोर्ट हर दिन शाम को लखनऊ भेजी जाती है। स्पेशल टीम को आगरा में सैम्पलिंग, मरीजों की ट्रेसिंग और ट्रैकिंग के अलावा संक्रमण की रोकथाम में लापरवाही मिली थी। जिसके बाद कई अधिकारियों के ट्रांसफ किए गए।

​लॉकडाउन में सख्ती बढ़ाई गई

यूपी में कोरोना का पहला मामला आगरा में ही पाया गया था। शहर में विदेश से आने वाले व्यापारियों की संख्या को देखते हुए काफी पहले ही लॉकडाउन लागू किया गया था। बीच में मामले कम होने पर थोड़ी ढील भी दी गई लेकिन दोबारा मामले बढ़ने के बाद लॉकडाउन में सख्ती बढ़ा दी गई। कंटेनमेंट जोन और रेड जोन में पूरी तरह से पाबंदी लगा दी गई।

​SN मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल जीके अनेजा हटाए गए

आगरा में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को लेकर एसएन मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. जीके अनेजा को उनके पद से हटा दिया गया। उनकी जगह पर कानपुर के डॉ. संजय काला को कार्यवाहक प्रिंसिपल नियुक्त किया गया है। इसके अलावा एसएन मेडिकल कॉलेज में मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. एसपी जैन को भी कार्य में लापरवाही पर शासन ने हटा दिया है। उन्हें डीएम कार्यालय में अटैच किया गया है। नए सिरे से एसएन में विभागाध्यक्षों की जिम्मेदारियां तय की गई हैं। समझा जा रहा है कि जनप्रतिनिधियों की शिकायतों पर ये कदम उठाए गए हैं।

प्राइवेट डॉक्टरों को भी ट्रेनिंग

कोरोना वायरस (Coronavirus) के मोर्चे पर आगरा जिला प्रशासन ने प्राइवेट डॉक्टरों को लगाया है। आगरा के निजी चिकित्सालयों के चिकित्सकों को इन्फेक्शन प्रिवेंटिव कंट्रोल के लिए ट्रेनिंग दिलाई जा रही है। इस दौरान एक बार में 13 से 25 लोगों को प्रशिक्षित किया जा रहा है। डॉक्टरों को सीएमओ आगरा की देखरेख में ट्रेनिंग दी जा रही है। अभी तक 250 से ज्यादा निजी चिकित्सकों को ट्रेनिंग दी जा चुकी है।

​मई के तीसरे हफ्ते में कम हुई कोरोना की रफ्तार

आगरा में 1 अप्रैल से लगातार कोरोना संक्रमित मरीजों के मिलने का सिलसिला न सिर्फ अभी तक टूटा नहीं हैं बल्कि एक भी दिन ऐसा नहीं गया, जिस दिन संख्या में इजाफा न हुआ हो। पूरे अप्रैल महीने में कोरोना संक्रमितों के मिलने की रफ्तार से जिला प्रशासन हलकान होता रहा। मई के पहले सप्ताह में संक्रमण की रफ्तार और तेज हो गई थी। मई के पहले सात दिनों में 199 संक्रमित मिले। 3 मई को रेकॉर्ड सबसे ज्यादा 54 कोरोना संक्रमित मिले थे। मई का दूसरा सप्ताह जरूर राहत की खबर लेकर आया है। 8 से 15 मई तक 111 मरीज बढ़े और इस दौरान लगातार संक्रमितों की संख्या में गिरावट दर्ज की गई। सबसे कम चार मरीज गुरुवार रात की रिपोर्ट में बताए गए हैं। यह आंकड़ा मई के 15 दिनों में सबसे कम है।

​मोहल्लों में बनाए गए हैं मॉडल हॉटस्पॉट

कई मोहल्लों को मॉडल हॉटस्पॉट बनाया गया है। यहां पुलिस रात में भी तैनात रहेगी। सभी हॉटस्पॉट को इसी तरह बनाया जाना है। एएसपी सौरभ दीक्षित ने बताया कि यहां पर पुलिसकर्मियों और कोरोना फाइटर्स से लेकर अधिकारियों के बैठने के लिए टेंट लगाया गया है। इस टेंट में कूलर लगा है। इसके साथ ही गर्म पानी, चाय और नाश्ते का भी इंतजाम होगा। मॉडल हॉटस्पॉट में मोहल्ले के लोगों को सुविधा देने के लिए कर्मचारी लगाए हैं, जोकि पीपीई किट पहनकर ही जाएंगे। साफ-सफाई से लेकर राशन उपलब्ध कराने वाले भी किट पहनकर रहेंगे।

​अब तक 789 मरीज, 389 हुए ठीक

आगरा में अब तक 789 संक्रमित मिले हैं। राहत की बात यह भी है कि इनमें 389 मरीज ठीक होकर घर जा चुके हैं और 42 अन्य को शुक्रवार शाम तक डिस्चार्ज किया गया। अब 370 सक्रिय मामले बताए गए हैं। जनपद में अभी 44 ऐक्टिव हॉटस्पॉट क्षेत्र हैं। आगरा में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) कार्यकर्ता सहित दो और कोरोना संक्रमितों की मौत हो गई। शाहगंज निवासी कोरोना संक्रमित बीजेपी कार्यकर्ता और राजनगर के 62 वर्षीय बुजुर्ग ने गुरुवार को दम तोड़ दिया। दोनों का उपचार एसएन मेडिकल कॉलेज में चल रहा था। इससे संक्रमित मृतकों का आंकड़ा 27 हो गया है।


Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it