Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > अलीगढ़ > अलीगढ़ में पुलिस के अंदर भ्रष्टाचार से त्रस्त है खुद पुलिस वाले, कैसे वसूलते है पुलिस कर्मियों से पैसे

अलीगढ़ में पुलिस के अंदर भ्रष्टाचार से त्रस्त है खुद पुलिस वाले, कैसे वसूलते है पुलिस कर्मियों से पैसे

 Special Coverage News |  27 Nov 2018 4:32 PM GMT  |  अलीगढ़

अलीगढ़ में पुलिस के अंदर भ्रष्टाचार से त्रस्त है खुद पुलिस वाले, कैसे वसूलते है पुलिस कर्मियों से पैसे
x

जब कभी किसी पुलिसकर्मी से मुलाकात होती है तब अक्सर ये बात आती है कि पुलिस में भ्रष्टाचार पूरी तरह समाया हुआ है। थाने उगाही का केंद्र बने हुए हैं और आइपीएस अधिकारी तक भी भ्रष्टाचार की आंच पहुंच जाती है।


पुलिस के भ्रष्टाचार की कहानी में दिलचस्प बात यह सामने आती है कि पुलिस वाले बाहर वालों से ही पैसे नहीं लेते बल्कि पुलिस विभाग के अंदर भी खुद पुलिस का काम लेन-देन के साथ होता है। दरोगा और सिपाहियों की सबसे बड़ी समस्या होती है छुट्टी न मिलना जिसके लिए उन्हें बड़ी मशक्कत करनी पड़ती है। पुलिस में व्याप्त भ्रष्टाचार की बातें इसलिए बाहर नहीं आती क्योंकि विभाग की बदनामी के डर से पुलिसकर्मी चुप्पी साध लेते हैं। और इस समस्या का कभी समाधान नहीं हो पाता।


लेकिन कभी कभी किसी पुलिसकर्मी से बात करने पर यह बातें भी सामने आ जाती हैं। ऐसे ही भ्रष्टाचार की एक मिसाल अलीगढ़ में सुनने में आई जब दो तीन पुलिसकर्मियों ने नाम न बताने की शर्त पर यह बातें कबूली कि पुलिस लाइन में तैनात गणना मुहर्रिर एचसीपी प्रेमशंकर और कांस्टेबल नीतिन कुमार पुलिस वालों से छुट्टी दिलाने के नाम पर अच्छी खासी रकम वसूलते हैं। जब उनसे इस बारे में अधिकारियों को शिकायत नहीं करने की बात पूछी तो।


उन्होंने बताया कि हमारी कौन सुनता है और हो सकता है कि रकम का कुछ हिस्सा ऊपर तक जाता हो। क्योंकि उक्त दोनों पुलिसकर्मी प्रेमशंकर और नीतिन कुमार अधिकारियों के नाम पर ही वसूली करते हैं। जब इस मामले के बाबत एक रिटायर पुलिस अधिकारी से पूछा तो उन्होंने भी ऐसे मामलों के होने की पुष्टि की है। जब पुलिस विभाग में अंदर ही अंदर इतना भ्रष्टाचार है तो भ्रष्टाचार मुक्त पुलिस की कल्पना करना ही बेमानी और निरर्थक है।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it