Top
Begin typing your search...

इलाहाबाद में सरेआम रिटायर्ड दरोगा अब्दुल समद की पीट पीट कर हत्या, कोर्ट ने लगाई सरकार को फटकार

इलाहाबाद में सरेआम रिटायर्ड दरोगा अब्दुल समद की पीट पीट कर हत्या, कोर्ट ने लगाई सरकार को फटकार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

इलाहाबाद : एक रिटायर्ड दरोगा की पीट-पीटकर हत्याु किए जाने का मामला सामने आया है। सरेराह हुई इस हत्या की वारदात पास लगे एक सीसीटीबी कैमरे में कैद हो गई। पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। बताया जा रहा है कि हत्या का कारण पड़ोसी के साथ दरोगा का चल रहा जमीन विवाद है।


अब्दुल समद यूपी पुलिस में दरोगा की पोस्ट से कुछ दिनों पहले रिटायर हुए थे। वह इलाहाबाद के शिवकुटी थानांतर्गत इलाके में अपने परिवार के साथ रहते थे। उनके पड़ोस में ही हिस्ट्री शीटर जुनैद का भी मकान है। दोनों के बीच एक जमीन को लेकर लंबे समय से विवाद चल रहा था। इस बात को लेकर दोनों के बीच कई बार कहासुनी भी हुई थी। सोमवार को अब्दुल किसी काम को लेकर अपने घर के बाहर साइकल से निकले थे। वह कुछ ही दूर पहुंचे थे कि पहले से घात लगाए बैठे दबंगों ने उन्हें लाठी-डंडों से पीटना शुरू कर दिया।


दबंगों ने अब्दुल को पीट-पीटकर लहूलुहान कर दिया। विडियो में दिख रहा है कि पहले एक व्यक्ति अब्दुल के पीट रहा है। बाद में एक अन्य व्यक्ति की लाठी लेकर उन्हें पीटने आ गया, उसके बाद दोनों ने जमकर अब्दुल को पीटा। अब्दुल पिटाई से बेसुध होकर जमीन पर गिर पड़े लेकिन दबंगों को दिल नहीं पसीजा। जब उन्हें लगा कि अब्दुल की सांसे टूटने लगी हैं तो वे उन्हें वैसी ही हालत में छोड़कर भाग निकले। इधर सूचना पाकर मौके पर पहुंचे पुलिस और बाद में कुछ लोगों ने अब्दुल को अस्पताल में भर्ती कराया। जहां देर शाम उनकी मौत हो गई।


जांच के दौरान पुलिस ने घटनास्थल के पास लगे सीसीटीवी फुटेज खंगाले तो लोगों की संवेदनहीनता सामने आई। फुटेज में दिख रहा है कि दबंग अब्दुल को लाठी-डंटे से पीट रहे हैं और लोग खड़े तमाशा देख रहे हैं। आते-जाते लोग भी पिटाई को नजरअंदाज करते निकले जा रहे हैं। एक-दो बाइक वाले तो रुककर अब्दुल की पिटाई होते देख रहे हैं और फिर अपनी बाइक घुमाकर वहां से निकल गए। सोमवार की इस घटना पर मंगलवार को हाई कोर्ट ने पुलिस प्रशासन को फटकार लगाई। हाई कोर्ट ने पूछा कि जब रिटायर्ड दरोगा को पीट-पीटकर हत्या करने वाले सीसीटीवी में नजर आए और पुलिस ने उनकी पहचान कर ली तो अब तक उनकी गिरफ्तारी क्यों नहीं हुई?



Next Story
Share it